जमशेदपुर, अरविंद श्रीवास्तव।  New Year 2020 Celebration जुबली पार्क की तरह अब घोड़ाबांधा के थीम पार्क में भी पिकनिक के लिए चूल्हा नहीं जलेगा। इसे लेकर नए साल-2020 में घोडाबांधा थीम पार्क में वनभोज करने वालों को मायूसी होगी। वन विभाग ने यहां पिकनिक मनाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

यह प्रतिबंध पिछले एक सप्ताह से लगाया गया है। यहां पिकनिक मनाने वालों को पुलिस की ओर से मनाही की जा रही है। इसे लेकर विभाग ने पार्क के गेट पर नोटिस चस्पां कर दिया गया है। रविवार और सोमवार को देखा गया कि वनभोज के लिए चूल्हा जलाना मना कर दिया गया तथा कई लोगों को पार्क से बाहर जाना पड़ा। घर से बनाये हुए खाना को भी पार्क के आसपास खाने से भी मना किया जा रहा है। शैलानियों द्वारा पिकनिक के दौरान गंदगी करने तथा चूल्हा जलाने से आग लगने की घटना तथा खतरा को देखते हुए यह कदम उठाया गया।

आने वालों की बढ़ी मुश्किलें 

पूरे शहर में नैसर्गिक वातावरण से परिपूर्ण थीम पार्क पिकनिक मनाने वाले तथा घुमने वालों के लिए यह जगह काफी बेहतर था। सैकड़ों पेड-पौधों, झूला, चेक डैम, हैंगिंग ब्रिज आदि सुविधाओं से परिपूर्ण यह पार्क शहर के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा है। ठंड में यहां रविवार समेत रोजाना हजारों लोग घुमने तथा पिकनिक मनाने आते हैं। 

क्या है वन विभाग का नोटिस 

वन क्षेत्र पदाधिकारी, मानगो वन क्षेत्र, जमशेदपुर की ओर से पार्क के गेट व परिसर में नोटिस चिपकाया गया, जिसमें बताया गया है कि थीम पार्क, घोडाबांधा में सभी भ्रमणकारियों एवं पिकनिक करने वालों को सूचित किया जाता है कि पार्क परिसर के अंदर चूल्हा व अन्य ज्वलनशील पदार्थ और प्लास्टिक का प्रयोग ना करें। इससे पौधों एवं सरकारी संपत्ति को क्षति पहुंच सकती है। 

ये कहते डीएफओ

पार्क का मेंटेनेंस फंड के अभाव में नहीं हो पा रहा है। बाहर से आने वाले लोग व पिकनिक मनाने वाले पार्क को गंदा कर रहे हैं। साथ ही चूल्हा जलाकर खाना बनाने से आग लगने की घटना हो चुकी है। इसलिए चूल्हा जलाकर पिकनिक पर प्रतिबंध लगाया गया है। 

-डॉ. अभिषेक कुमार, डीएफ ओ, जमशेदपुर।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस