जासं, जमशेदपुर : दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन का असर शहर में भी दिख रहा है। किसान संगठनों के मंगलवार को आहूत भारत बंद को सफल बनाने के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा व कांग्रेस समेत तमाम दलों की सक्रियता दिख रही है।

भारत बंद की पूर्व संध्या पर सोमवार को विभिन्न राजनीतिक व सामाजिक संगठनों ने साकची स्थित आमबगान मैदान से मशाल जुलूस निकाला, जो साकची गोलचक्कर पर समाप्त हुआ।

उधर, जिला प्रशासन भी बंद को विफल बनाने के लिए मुस्तैद है। सोमवार शाम को उपायुक्त (डीसी) सूरज कुमार व वरीय आरक्षी अधीक्षक (एसएसपी) डा. एम. तमिल वाणन का संयुक्त आदेश जारी हुआ, जिसमें 54 स्थानों पर दंडाधिकारी व पुलिस बल प्रतिनियुक्त किए गए हैं। इन्हें सुबह छह बजे से आंदोलन समाप्त होने तक कार्यक्षेत्र में डटे रहने का आदेश दिया गया है। जिला प्रशासन की रेल, एनएच समेत अन्य प्रमुख मार्ग और संवेदनशील स्थानों पर विशेष नजर रहेगी। शहर में निकले मशाल जुलूस में झामुमो, कांग्रेस, भाकपा, भाकपा-माले समेत अन्य संगठनों के समर्थक-कार्यकर्ता शामिल थे।

-------------------------

बोड़ाम में सक्रिय रहेगी भीम आर्मी

पटमदा : किसान संगठनों द्वारा आहूत देशव्यापी भारत बंद को सफल बनाने के लिए पटमदा-बोड़ाम में भीम आर्मी सक्रिय रहेगी। भीम आर्मी के भारत एकता मिशन बोड़ाम प्रखंड कमेटी के अध्यक्ष फूलचांद सिंह सरदार ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा जो कृषि विधेयक लागू किया गया है, वह पूरी तरह किसान विरोधी है। किसान को इससे कोई फायदा नहीं होगा। बोड़ाम में इस काले कानून के विरोध में मंगलवार को प्रदर्शन किया जाएगा।इस दौरान कमेटी के सचिव दयामय रूहीदास व कोषाध्यक्ष सुभाष सहिस भी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran