जमशेदपुर (जासं)। जुस्को श्रमिक यूनियन की आमसभा में रघुनाथ पांडेय के को-ऑप्शन करने पर सवाल खड़ा हो गया है। यूनियन के पूर्व महामंत्री एसएल दास ने आमसभा में रघुनाथ पांडेय के साथ सीएस झा व आशीष माथन की उपस्थिति को असंवैधानिक बताया है।

कहा है कि ये तीनों बाहरी लोग थे बावजूद उन्हें आमसभा में शामिल किया गया। वे (एसएल दास) कंपनी के अवकाश प्राप्त कर्मचारी व यूनियन के पूर्व महामंत्री थे बावजूद उन्हें सभा में शामिल नहीं होने दिया गया। इसे लेकर एसएल दास ने उप श्रमायुक्त व एडीएम से शिकायत की है। को-ऑप्शन में अनियमितता बरतने का आरोप मढ़ते हुए मामले की जांच कराने की मांग की है। एसएल दास ने कहा कि एमजीएम में एकाउंट प्रस्तुत करने की जिम्मेदारी कोषाध्यक्ष की होती है और वार्षिक रिपोर्ट महामंत्री प्रस्तुत करते हैं लेकिन यहा एकाउंट और वार्षिक रिपोर्ट अध्यक्ष रघुनाथ पाडेय खुद ही प्रस्तुत कर दिये।

एसएल दास ने आरोप लगाया है कि निर्वाचन पदाधिकारी सीएस झा और सहायक निर्वाचन पदाधिकारी आशीष माथन टाटा स्टील कर्मी है वे वहा पूर्व से कैसे मौजूद थे क्या पहले ही उन्हें बता दिया गया था कि उनके नाम का चयन किया गया है। दूसरी बात एजीएम में शामिल होने के लिए जब गेट पास और पेमेंट स्लिप के माध्यम से अनुमति दी गयी तो वे अंदर कैसे आ गये। उन्होंने दावा कि है कि उनके समर्थक को-ऑप्शन में उनका भी नाम लिया गया था लेकिन उनकी आवाज को दबा दिया गया और जबरन रघुनाथ पाडेय के नाम की घोषणा कर दी गयी।

एसएल दास कौन होते शिकायत करने वाले : कमेटी मेंबर्स जुस्को श्रमिक यूनियन के कमेटी मेंबर रविकांत शुक्ला, सूर्य प्रकाश व सुरज सिंह ने संयुक्त रूप से बयान जारी कर कहा है कि एसएल दास कौन होते हैं आमसभा पर अंगुली उठाने वाले। वे न तो अब कंपनी के कर्मचारी हैं और नहीं यूनियन के पदाधिकारी, उनकी शिकायत गलत है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस