जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष कौन। कुलदीप सिंह? सचिव कौन, देवाशीष चक्रवर्ती। ना.ना.ना. आप गलत हैं। आप सोच रहे होंगे, ऐसा क्या? जी हां, ऐसा ही है। आपको विश्वास नहीं होता ना। झारखंड राज्य क्रिकेट एसोसिएशन की वेबसाइट पर नजर दौड़ाए। आज भी अध्यक्ष के तौर पर अमिताभ चौधरी का मुस्कुराता हुआ चेहरा नजर आ जाएगा। यही नहीं, कुलदीप सिंह अध्यक्ष नहीं, बल्कि आज भी उपाध्यक्ष है। क्रिकझारखंड डॉट ओआरजी की वेबसाइट तो यही बताता है। मनोज कुमार छह महीने पहले ही उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे चुके हैं, लेकिन राज्य क्रिकेट संघ की आधिकारिक वेबसाइट में आज भी वह उक्त पद पर विराजमान है। वही हाल उपाध्यक्ष संजय सिंह का है।

यहां गौर करने वाली बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासक समिति के अनुसार एक मार्च तक बीसीसीआइ से मान्यता प्राप्त सभी राज्य संघों को अपनी वेबसाइट को अपडेट करना था। लेकिन जेएससीए ने अभी तक कोई अपडेट नहीं किया है। बीसीसीआइ के प्रशासक समिति (कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर, सीओए) ने 24 फरवरी को सभी राज्य क्रिकेट संघों को ई मेल के जरिए पत्र भेजकर कहा कि वह अपनी वेबसाइट को एक मार्च तक अपडेट कर लें। वेबसाइट में ऑफिस बियरर (पदाधिकारी) की उम्र व उनकी कार्यावधि का उल्लेख करने को कहा गया। पत्र में कहा गया है कि लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के अनुसार ही ऑफिस बियरर की नियुक्ति करना है। यह अलग बात है कि कूलिंग पीरियड में रहने के बावजूद जेएससीए ने कुलदीप सिंह को अध्यक्ष मनोनीत कर दिया। प्रशासक समिति ने राज्य संघों को यह निर्देश भी दिया कि अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर सभी सदस्यों की सूची, वर्तमान पदाधिकारियों की सूची, उनकी कार्यावधि के साथ-साथ संबंधित राज्य संघ का संविधान भी वेबसाइट पर अपलोड करना था।

वेबसाइट से ऑडिट रिपोर्ट गायब

यहीं नहीं, जेएससीए की वेबसाइट में 2015-16 का वार्षिक आम रिपोर्ट की प्रति तो है, लेकिन ऑडिट रिपोर्ट गायब है। हालांकि सदस्यों को मिली हार्ड कॉपी (वार्षिक आम रिपोर्ट की पुस्तिका) में ऑडिट रिपोर्ट शामिल है।

खिलाड़ियों की सूची में सिर्फ धौनी व सौरभ

वेबसाइट के प्लेयर्स व ऑफिसियल्स कॉलम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट महेंद्र सिंह धौनी व सौरभ तिवारी को ही स्थान दिया गया है, जबकि वरुण एरोन, इशांक जग्गी, विराट सिंह, शाहबाज नदीम का नाम गायब है।

मैच रिपोर्ट भी अपडेट नहीं

जेएससीए रणजी ट्रॉफी, वीनू मांकड़ ट्रॉफी व विजय हजारे ट्रॉफी के मैच को ही वेबसाइट में अपलोड करने लायक मानता है। लेकिन जरा संभल के। अगर इन कॉलम को क्लिक करेंगे, तो भी आपको निराशा ही हाथ लगेगी। रणजी ट्रॉफी व विजय हजारे ट्रॉफी का एक भी मैच अपडेट नहीं है। चूंकि मनोज कुमार कभी वेबसाइट कमेटी के चेयरमैन हुआ करते थे, सो गत वर्ष वीनू मांकड़ ट्रॉफी के धनबाद में हुए दो मैच ही अपलोड किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस