जमशेदपुर : साले कन्हैया सिंह की हत्या की घटना को लेकर पूर्व विधायक अरविंद सिंह उर्फ मलखान सिंह ने गुरुवार को चुप्पी तोड़ दी। कहा कि विधि व्यवस्था जीरो है। ये माफ करने लायक नहीं है। सरकार फेल है। जल्द हत्यारों को पता चल जाएगा। हत्या की घटना कहीं न कहीं मुझे नुकसान पहुंचाने के लिए की गई है जब मुझ पर सफल नहीं हुए तो साले की हत्या कर दी गई और पूरी नियोजित तरीके से हत्या को अंजाम दिया गया हैै। रेकी कर हत्या की गई है। ऐसा लगा रहा है कि टारगेट कर हत्या की गई है। एक सप्ताह से हत्यारों ने रेकी की होगी। सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र हरिओम नगर रोड नंबर पांच एमआइजी फ्लैट में घर के सामने जिस तरीके से कन्हैया सिंह की हत्या की गई है। वह विधि व्यवस्था पर सवाल खड़ा करता है। हत्यारों को जानकारी थी कि कन्हैया सिंह आ रहे है। इससे पहले फ्लैट की ओर जाने वाली सीढ़ी पर बुधवार रात 10 बजे जाकर छुप गए जैसे ही कन्हैया सिंह घर का दरवाजा खुलवाने को काल बेल बजाया। हत्यारों ने गोली मार दी। इसके बाद भाग निकले। फ्लैट में कोई सुरक्षा व्यवस्था भी नहीं है और यहां रहने वाले लोगों को एक-दूसरे से बहुत अधिक मतलब भी नहीं रहता है। मलखान सिंह को अपने साले से काफी लगाव था। उन्हें मलखान सिंह ने आदित्यपुर में बसाया था। 

------

तीन अपराधियों ने दिया था घटना को अंजाम

देर रात करीब 9.55 बजे के आसपास तीन की संख्या में नकाबपोश अपराधी कन्हैया सिंह के हरिओम नगर रोड नंबर पांच स्थित घर पर पहुंचे। वह पहले से ही घर की सीढ़ी के पास घात लगाकर बैठे थे। कन्हैया सिंह अपनी लग्जरी कार से उतरकर घर की सीढ़ियों पर चढ़ते हुए घर के दरवाजे पर पहुंचे और काल बेल बजाया। जब तक दरवाजा खुलता, अपराधियों ने कन्हैया सिंह के सिर और कनपट्टी के पास सटाकर गोलियां दाग दी। घटना को अंजाम देकर तीनों अपराधी पैदल ही दिंदली हाउसिंग कालोनी की ओर भाग निकले। गोली की आवाज सुनते ही स्थानीय लोग जुटे और उन्हें टीएमएच ले जाया गया। यहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

Edited By: Sanam Singh