जमशेदपुर (जासं) । जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : शिक्षा विभाग की जांच की रफ्तार से नाराज शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने अब धालभूमगढ़ प्रखंड के प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी (बीईईओ) राम नरेश राम द्वारा शिक्षकों से वेतन निकासी के मद में 50 रुपया घूस लिए जाने का मामले की जांच का जिम्मा पूर्वी सिंहभूम के डीसी को सौंपा है। डीसी को किए गए ट्वीट में उन्होंने मामले की जांच प्रशासनिक पदाधिकारी से कराने के निर्देश दिए हैं। शिक्षा मंत्री के निर्देश के बाद पूर्वी सिंहभूम के डीसी सूरज कुमार ने इस मामले की जांच घाटशिला अनुमंडल के एसडीओ को सौंपी है।

धालभूमगढ़ के बीईईओ द्वारा शिक्षकों से 50 रुपये मांगे जाने का ऑडियो 25 जून को अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ की ओर से जारी किया गया था। इससे संबंधित खबर अखबारों में प्रकाशित होने के बाद जिला शिक्षा अधीक्षक ने मामले की जांच प्रारंभ की। 25 जून से अब तक जांच ही चल रही थी। इसी बीच शिक्षकों एवं बीईईओ को बुलाकर मामले का हल निकालने का प्रयास किया गया, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। अंत में सुस्त रफ्तार से नाराज शिक्षा मंत्री ने विभाग से जांच का अधिकार ही छीन लिया। 

शिक्षकों को धमकाने के बाद मामले ने पकड़ा तूल

बीईईओ राम नरेश राम द्वारा शिक्षकों से वेतन निकासी के मद में घूस मांगे जाने के बाद वे शांत नहीं हुए। अपने ऊपर लगे आरोप को झूठलाने के लिए कोविड-19 में शिकायतकर्ता शिक्षकों के स्कूल में जाकर जांच प्रारंभ कर दी। उसके बाद इन शिक्षकों पर घूस मांगे जाने की शिकायत को वापस लेने का दवाब बनाये जाने लगा। बीईईओ ने शिक्षकों को जानबूझकर अनुपस्थित किया जाने लगा। जुलाई में कई शिक्षकों का वेतन निर्गत नहीं किया गया। इसके बाद मामले को शिक्षक संघ की ओर से और हवा दी गई। 

एसडीओ ने बीईईओ व शिक्षक से की पूछताछ

धालभूमगढ़ बीईईओ रामनरेश राम पर 50 रुपये घूस लेने के मामले में जांच पदाधिकारी घाटशिला अनुमंडल के एसडीओ अमर कुमार ने उपायुक्त का आदेश प्राप्त होते ही जांच प्रारंभ कर दी। मंगलवार की दोपहर वे धालभूमगढ़ प्रखंड कार्यालय पहुंचे, वहां उन्होंने बीईईओ और वायरल ऑडियो में बातचीत करने वाले शिक्षक को बुलाया। दोनों से पूछताछ की। बताया जा रहा है कि इस पूछताछ में बीईईओ ने अपना बचाव करते हुए कहा कि इस ऑडियो में आवाज उनकी नहीं है। शिक्षक ने दावा किया यह आवाज उन्हीं की है। मामले की जांच जारी है। इस मामले में कार्रवाई न होता देख भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षड़ंगी ने शिक्षा मंत्री को ट्वीट कर इस मामले की जानकारी देते हुए कार्यवाही की मांग की थी। इसके बाद शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो रेस हुए और डीसी को जांच के निर्देश दिए। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस