सरायकेला, जासं। बीते 2 एवं 3 मई की मध्य रात्रि को अज्ञात लोगों के द्वारा अपराधी बाबू गोप उर्फ कार्तिक गोप के ऊपर जानलेवा हमला किया गया। जिसमें इलाज के दौरान कार्तिक गोप की मृत्यु टीएमएच अस्पताल में हो गई थी, इस मामले का खुलासा आदित्यपुर पुलिस ने कर लिया है। सरायकेला अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी हरविंदर सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले की जानकारी दी है।

दोनों अपराधियों की हुई गिरफ्तारी

उन्होंने बताया है कि मृतक कार्तिक गोप के परिजनों द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी के आधार पर प्रोफेशनल तरीके से अनुसंधान करते हुए साक्ष्य संकलन किया गया। और घटना में शामिल दो अपराधकर्मी मुकेश दास उर्फ गोलू एवं राजवीर सिंह उर्फ लालू को गिरफ्तार किया गया। उनके द्वारा अपराध स्वीकार करते हुए बताया गया कि बाबू उर्फ कार्तिक एक अपराधी था। और वह मुकेश दास को जान से मारना चाह रहा था। जिसके कारण मुकेश दास और राजवीर सिंह तथा अन्य लोग मिलकर अपराधी बाबू गोप के ऊपर भुजाली से जानलेवा हमला किए। जिसमें उसकी मृत्यु इलाज के दौरान हो गई थी।

गिरफ्तार आरोपियों की निशानदेही पर कई सबूत बरामद

बताया गया कि गिरफ्तार अभियुक्तों की निशानदेही पर एक प्लास्टिक रंग का थैला, लाल रंग का गमछा और घटना में प्रयुक्त स्टील का एक भुजा ली बरामद किया गया है। गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। और घटना में संलिप्त अन्य अपराध कर्मी की गिरफ्तारी की जानी बाकी है। गिरफ्तार अपराधियों में राजवीर सिंह उर्फ लालू का आर आईटी थाना कांड संख्या 17/ 2020 एवं मुकेश दास उर्फ गोलू का गम्हरिया थाना कांड संख्या 38/ 2019 के तहत अपराधिक इतिहास रहा है। उन्होंने बताया, कि पूरे मामले में बेहद ही प्रोफेशनल तरीके से अनुसंधान करते हुए दोनों को गिरफ्तार किया गया है। अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी की जा रही है। जल्द ही उनकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

Edited By: Madhukar Kumar