जमशेदपुर : जमशेदपुर एफसी ने अपना अजेय अभियान जारी रखते हुए गोवा के जीएमसी एथलेटिक स्टेडियम में खेले गए इंडियन सुपर लीग (आइएसएल) के एक मुकाबले में एटीके मोहनबागान को 2-1 से पराजित कर दिया। जमशेदपुर की जीत में सीमिलेन डूंगेल ने पहले हाफ में और स्थानापन्न खिलाड़ी एलेक्जेडर लिमा ने दूसरे हाफ में एक-एक गोल किया।

बगान की ओर से प्रीतम कोटल ने मैच के अंतिम समय में सांत्वाना गोल दागा। इस जीत के बाद जमेशदपुर चार मैचों से आठ अंक लेकर तालिका में दूसरे स्थान पर बना हुआ है। वहीं, यह बगान की लगातार दूसरी हार रही और वह चार मैचों में छह अंकों के साथ पांचवें स्थान पर है। जमशेदपुर के मिडफील्डर जितेंद्र सिंह को हीरो ऑफ द मैच अवार्ड दिया गया।

37वें मिनट में जेएफसी को मिली बढ़त

मैच के 37वें मिनट में जमशेदपुर एफसी को उस समय 1-0 की बढ़त मिली, जब सीमिलेन डूंगेल ने गोल किया। एक शानदार मूव पर जितेंद्र सिंह मध्य मैदान से गेंद लेकर तेजी से आगे बढ़े और सही समय पर उन्होंने दाएं फ्लैंक पर डूंगेल की ओर गेंद बढ़ा दी। यह मणिपुरी विंगर गेंद लेकर मोहन बगान के बॉक्स में घुसा और उसने एक तेज शॉट से गेंद को गोलपोस्ट के अंदर पहुंचा दिया। गोल करने के सात मिनट बाद ही डूंगेल को बाहर जाना पड़ा, क्योंकि वह विपक्षी खिलाड़ी से गेंद छिनने के प्रयास में अपना पैर चोटिल करा बैठे थे और उनकी स्थान पर बोरिस सिंह मैदान पर उतरे।

84वें मिनट में लिमा ने किया दूसरा गोल

मैच का दूसरा गोल 84वें मिनट में जमशेदपुर एफसी के लिए स्थानापन्न खिलाड़ी एलेक्जेडर लिमा ने दागा। वह स्कॉटिश फॉरवर्ड ग्रेग स्टीवर्ट के स्थान पर उतरे थे और मैदान पर उतरने के 22सेकेंड में ब्राजीली मिडफील्डर ने जमशेदपुर की बढ़त 2-0 कर दी। उन्होंने मध्य मैदान से बोरिस सिंह के पास पर एक कोणीय शॉट लगाया और गेंद बायीं ओर डाइव लगा रहे गोलकीपर अमरिंदर सिंह के बगल से गोलपोस्ट पर चली गई।

इसके पांच मिनट बाद ही मोहन बागान के खिलाड़ियों का संघर्ष रंग लाया। जब 89वें मिनट में बगान के डिफेंडर प्रीतम कोटल ने स्कोर 1-2 कर दिया। यह गोल कुछ विवादास्पद रहा, क्योंकि प्रीतम ने मौके का फायदा उठाते हुए गेंद को गोलजाल की ओर धकेला था जबकि जमशेदपुर के खिलाड़ी ऑफसाइड की मांग करते रहे, लेकिन रैफरी ने गोल मान्य किया।

अल साबिया ने किया शानदार बचाव

मैच के 43वें मिनट में जमशेदपुर के ब्राजीली डिफेंडर अल साबिया ने गोल-साइन से गेंद क्लीयर करके शानदार बचाव किया। मोहन बगान के फॉरवर्ड रॉय कृष्णा के प्रयास को जमशेदपुर के गोलकीपर टीपी रेहेनेश सही ढंग से नहीं रोक पाए और गेंद गोलपोस्ट की ओर बढ़ रही थी। ऐसे में साबिआ ने गोललाइन से गेंद को क्लीयर करके गोल नहीं होने दिया।

जहां तक पहले हाफ के खेल की बात है तो जमशेदपुर एफसी ने अवसर मिलने पर पलटवार किए और डिफेंस में भी मशक्कत की। उन्होंने मोहन बगान के गोलकीपर अमरिंदर सिंह को खासा व्यस्त रखा। पहले हाफ में गेंद पोजिशन दोनों टीमों के पास लगभग बराबर रही। शुरुआती 25 मिनट तक दोनों ही टीमों के डिफेंस ने अपने आक्रमणकारियों को बहुत ज्यादा अवसर नहीं दिया।

मैच में रैफरी ए. रोवन ने कुल छह येलो कार्ड दिखाए। पहला येलो कार्ड जमशेदपुर एफसी के ब्राजीली डिफेंडर एली साबिआ को चौथे मिनट में दिखाया गया। दूसरा येलो कार्ड मोहन बगान के रॉय कृष्णा को हाफ टाइम से ठीक पहले मिला। तीसरा येलो कार्ड जमशेदपुर के मिडफील्डर प्रणय हलदर और चौथा येलो कार्ड मोहन बगान के फॉरवर्ड हुगो बॉमॉस को 75वें मिनट में दिखाया गया। 84वें मिनट में जमशेदपुर के फॉरवर्ड ग्रेग स्टीवर्ट को पांचवां येलो कार्ड दिखाया गया। छठा येलो कार्ड जमशेदपुर के गोलकीपर टीपी रेहेनेश को 84वें मिनट में मिला।

Edited By: Jitendra Singh