नीमडीह (संसू)। शादीशुदा होते हुए भी युवती से नजदीकी संबंध बनानेवाले व्यक्ति को पंचायत के फरमान पर अपनी प्रेमिका से शादी करनी पड़ी। इस प्रसंग ने उस समय तूल पकड़ लिया जब प्रेमिका गर्भवती हो गई शादीशुदा प्रेमी उससे दूर भागने लगा। ग्राम प्रधान का भाई होने का रसूख काम नहीं आया और उसे पंचायत के फरमान पर गर्भवती प्रेमिका के साथ शादी करनी पड़ी।

मामला चांडिल अनुमंडल के नीमडीह अंतर्गत लाकड़ी गांव का है। यहां के ग्राम प्रधान का भाई नारायण माझी की शादी हो चुकी है। उसका गांव की ही एक युवती से लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों के बीच नजदीकियां कुछ ऐसी बढ़ी कि प्रेमिका गर्भवती हो गई। जब उसने शादी करने का प्रस्ताव रखा तो नारायण माझी शादी करने से मुकर गया।

उसके बाद वह अपनी प्रेमिका से दूरी भी बढ़ाने लगा। मामला ज्‍यादा समय तक ि‍छिप नहीं पाया और गांववालों को इसकी जानकारी हो गई। गांववालों ने नारायण माझी के साथ ही उनके भाई प्रधान रंजीत माझी और परिवार पर दबाव बढ़ाना शुरू कर दिया। मामला तूल पकड़ता गया और गांववालों के दबाव में पंचायत बैठी। प्रेमिका ने बताया कि वह पांच माह की गर्भवती है। परिजनों ने नारायण मांझी को गुरुवार को पंचायत में हाजिर किया। जहां पंचों ने निर्णय दिया कि इन हालात में नारायण माझी को युवती से शादी करना ही एक समाधान है। पंचायत की ओर से नारायण माझी की शादी उसकी गर्भवती प्रेमिका से करा दी गई। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस