जमशेदपुर, जासं।  Golden future Part Two in Tata Steel effective from 15 February टाटा स्टील प्रबंधन की ओर से 15 फरवरी से एक बार फिर सुनहरे भविष्य की योजना (एसबीकेवाई) पार्ट-2 (पूर्व में अर्ली सपरेशन स्कीम) को प्रभावी किया गया है। योजना एक माह तक के लिए 15 मार्च तक प्रभावी रहेगा। स्टील वेज वाले कर्मचारी इस स्कीम का लाभ उठा सकते हैं। 

टाटा स्टील प्रबंधन प्रतिवर्ष सुनहरे भविष्य की योजना को प्रभावी करता है। कंपनी प्रबंधन ने वर्ष 2018 में ही पुराने सुनहरे भविष्य की योजना में बदलाव करते हुए कर्मचारियों को तीन विकल्प दिए थे। पूर्व की तरह ही इस बार भी कर्मचारियों को वहीं विकल्प मिलेगा। स्टील वेज के वैसे कर्मचारी जिन्होंने 20 वर्षो तक स्थायी नौकरी कर चुके हैं, वे स्कीम के तहत पहले आश्रित (बेटा, बेटी, दामाद व बहू) को नौकरी दे सकते हैं। इसके बदले में उन्हें 12 हजार रुपये मासिक मिलेगा। साथ ही प्रतिवर्ष उक्त राशि में सम्मानजनक बढ़ोतरी होगी। योजना का लाभ लेने वाले कर्मचारियों को 60 वर्ष तक पूर्व से आवंटित क्वार्टर में रहने का लाभ मिलेगा। वहीं, स्कीम का लाभ लेने वाले कर्मचारियों के बच्चों को मिलेनियम स्कॉलरशिप में 60 सीटें आरक्षित रहेगा। 

कर्मचारियों को मिलने वाले तीन विकल्प (राशि रुपये में)

विकल्प-1
  • उम्र            20 वर्ष से कम पर   20 से ज्यादा पर    इतने वर्ष तक
                 मासिक प्रतिदान     मासिक प्रतिदान
  • 40-45 वर्ष  16,500                -33,000              -75
  • 45-48 वर्ष  16,000                -32,000              -75 
  • 48-51 वर्ष  15,750                -31,500              -74-72
  • 51-54 वर्ष  15,500                -31,000-            -71-69
  • 54-57 वर्ष  15,200               -30,000              -68-66
  • 57-59 वर्ष  15,000              -30,000               -65-64
  इस विकल्प के साथ मिलने वाली सुविधा
  • कर्मचारी की मौत पर उनकी पत्नी को उम्र के आधार पर लिए गए विकल्प का मासिक प्रतिदान मिलता रहेगा।
  • पत्नी की भी मौत हो गई तो दूसरे नंबर के आश्रित (बेटा-बेटी कोई भी) को इसका लाभ मिलता रहेगा।
  • 60 वर्ष तक टीएमएच में मेडिकल सुविधा जारी रहेगी। सेवानिवृत्त के बाद भी पूर्व कर्मचारियों को इसका लाभ मिलता रहेगा।
  • शहर से बाहर रहने पर पति-पत्नी को दो-दो लाख रुपये का मेडिक्लेम मिलेगा। 
विकल्प-2
  • उम्र          एकमुश्त   20 वर्ष से कम पर  एकमुश्त  20 से ज्यादा पर    इतने वर्ष तक
                       मासिक प्रतिदान                मासिक प्रतिदान            
  • 40-45 वर्ष : 12.5 लाख-14,000-21.5 लाख-27,500
  • 45-48 वर्ष : 11.5 लाख-15,500-20 लाख-30,500
  • 48-51 वर्ष : 10.5 लाख-17,000-18 लाख-33,500
  • 51-54 वर्ष : 9 लाख-18,500-15.5 लाख-36,500
  • 54-57 वर्ष : 7 लाख-21,000-12.5 लाख-38,000
  • 57-59 वर्ष : 4.5 लाख-23,000-8 लाख-42,000
  इस विकल्प के तहत मिलने वाली सुविधा
  • योजना 60 वर्ष तक के लिए प्रभावी रहेगी।
  • 6 वर्ष या 58 वर्ष, जो पहले हो संबधित कर्मचारी को क्वार्टर का लाभ मिलेगा।
विकल्प-3
  • उम्र            20 वर्ष से कम पर   20 से ज्यादा पर    
               मासिक प्रतिदान     मासिक प्रतिदान
  • 40-45 वर्ष : 24,000-45,000
  • 45-48 वर्ष : 26,000-49,000
  • 48-51 वर्ष : 28,000-52,000
  • 51-54 वर्ष : 30,000-55,000
  • 54-57 वर्ष : 32,000-58,000
  • 57-59 वर्ष : 34,000-62,000
  सुविधा 
  • इस विकल्प का लाभ वे कर्मचारी उठा सकते हैं जो सेटलमेंट का पैसा एकमुश्त या किस्त में टाटा कैपिटल या किसी अन्य कंपनी में निवेश करना चाहते हैं।
  • प्रबंधन ऐसे कर्मचारियों के लिए निवेश विशेषज्ञ प्रतिनियुक्त करेगा, जो कर्मचारी व उनके परिवार के सदस्यों को इसकी जानकारी देगा।
  • कर्मचारी चाहे तो खुद अपना पूरा पैसा कहीं भी निवेश कर सकते हैं।
  • 6 वर्ष या 58 वर्ष तक, जो पहले हो, संबधित कर्मचारी को तब तक क्वार्टर का लाभ मिलेगा।  

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस