जमशेदपुर (जेएनएन)। कुचाई के रायसिंदरी गांव से चार ग्रामीण लापता हैं। रायसिंदरी के समीप ही गुरुवार को सुरक्षाबलों के साथ नक्सली मुठभेड़ हुई थी। शुक्रवार को रायसिंदरी गांव के लोग लाठी-डंडा के साथ कुचाई थाना पहुंचे। पुलिस ने उन्हें थाना के बाहर ही रोक लिया।

ग्रामीणों का कहना था कि गुरुवार को गांव के चार लोग रघुनाथ मुंडा, बाले लौहार, पाकलु लौहार व मंगरा मुंडा घर से निकले थे जो वापस घर नहीं लौटे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि रायङ्क्षसदरी के गुरुवार की सुबह सभी अलग अलग घर से निकले थे। ग्रामीणों ने पुलिस से इन चार लोगों की खोजबीन करने की मांग की। 

थाने में मिला बुरुबांडी गांव का युवक  

कुचाई के छोटा सेगोई पंचायत के बड़ाबांडी गांव के बुरुबांडी टोला का एक युवक सोगड़ा मुंडा गुरुवार को शाम तक अपने घर नहीं पहुंचा था। पुलिस-नक्सली मुठभेड़ की खबर सुन कर गांव के लोग किसी तरह की अनहोनी की अंदेशा जताते हुए शुक्रवार को कुचाई थाना पहुंच गये।

ग्रामीण थाना पहुंचे तो देखा कि सोगड़ा मुंडा थाना में ही मौजूद है। इसके बाद पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने ग्रामीणों के साथ बैठक की। ग्रामीणों ने थाना प्रभारी के नाम ज्ञापन सौंप कर कहा कि सर्च ऑपरेशन के दौरान आम लोगों को परेशान नहीं किया जाय।  ग्रामीणों ने सर्च ऑपरेशन के दौरान तसर कीटपालकों से कैंची-हथौडा छीनने, गांव के कुछ लोगों से मोबाइल जब्त करने का आरोप लगाया। सर्च के दौरान बर्बाद हुई फसल की भरपाई की मांग की।

कुचाई थाना प्रभारी उदय गुप्ता व बीडीओ गौतम कुमार ने आश्वस्त किया कि ग्रामीणों को परेशान नहीं किया जायेगा। बेहतर संबंध स्थापित किया जायेगा। इसके बाद ही ग्रामीण वापस लौट गये। बैठक में मौके पर बीडीओ गौतम कुमार, इंसपेक्टर पास्कल टोप्पो, श्रीनिवासन ङ्क्षसह, खरसावां थाना प्रभारी सनज चौधरी, दलभंगा ओपी प्रभारी मनोहर कुमार, प्रमुख करम ङ्क्षसह मुंडा, मुखिया कांता मुंडा आदि उपस्थित थे। 

मुठभेड़ के बाद बरामद लाश की नहीं हो सकी शिनाख्त

गुरुवार को कुचाई थाना क्षेत्र के रायङ्क्षसदरी जंगल में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में मारे गए युवक की पहचान नहीं हो सकी है। लाश की पहचान करने के लिए रायङ्क्षसदरी तथा आस पास के क्षेत्रों से काफी संख्या में लोग शुक्रवार को थाना पहुंचे, परंतु किसी ने नहीं पहचाना। शुक्रवार को दिन भर लाश को कुचाई थाना में रखा गया। बड़ाबांडी से भी बड़ी संख्या में लोग थाना पहुंचे थे परंतु शिनाख्त नहीं हो सकी। 

दूसरे दिन भी चला सर्च ऑपरेशन

गुरुवार को हुई मुठभेड़ के बाद शुक्रवार को भी कुचाई के पहाड़ी क्षेत्रों में सुरक्षा बलों ने दिन भर सर्च ऑपरेशन चलाया। सर्च के दौरान कुछ खास चीज हाथ नहीं लगी। नक्सली मुठभेड़ के बाद शुक्रवार को पुलिस दिन भर मुस्तैद दिखी। कुचाई के विभिन्न जगहों पर चेक प्वॉइंट बना कर लोगों की जांच की गयी। कुचाई थाना में डीएसपी चंदन कुमार वत्स समेत कई पुलिस पदाधिकारी दिन भर जमे रहे। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस