सरायकेला (जागरण संवाददाता)। सरायकेला खरसावां जिला पुलिस ने भाकपा माओवादी संगठन के नाम पर लेवी मांगने और अपहरण की धमकी देने के आरोप में चार माओवादी समर्थकों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पुलिस ने इन चारों माओवादी समर्थकों के पास से बड़ी मात्रा में नक्सली पर्चा और प्रिंटर भी बरामद किया है। मामले के संबंध में जानकारी देते हुए सरायकेला एसपी मोहम्मद अर्शी ने पत्रकारों को बताया कि ईचागढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत तिरुलडीह पंचायत के चिपडीह गांव निवासी मंगल चंद सोरेन के घर के बाहर बीते 25 सितंबर को भाकपा माओवादी संगठन, दक्षिण छोटानागपुर जोनल कमेटी के नाम का पर्चा परिचय सटा हुआ पाया गया।

इस बीच कुछ देर बाद मंगल चंद्र सोरेन के मोबाइल पर उसी दिन नक्सली समर्थकों द्वारा फोन कर दो लाख रुपए लेवी की डिमांड की गई, और लेवी नहीं चुकाने पर इनके लड़के के अपहरण की भी धमकी दी गई। इसके बाद मंगल चंद्र सोरेन ने मामले को लेकर ईचागढ़ थाना में शिकायत दर्ज कराया जिसके बाद पुलिस द्वारा अनुसंधान के क्रम में चार माओवादी समर्थकों के साथ पर्चा छापने वाले  प्रिंटर को गिरफ्तार कर लिया गया।

पर्चा छापने में प्रयुक्त प्रिंटर समेत मोबाइल बरामद

सरायकेला एसपी मोहम्मद अर्शी ने बताया कि चांडिल एसडीपीओ के नेतृत्व में टीम गठित कर नक्सली समर्थक जगदीश महतो, भक्तराज महतो, सोहन सिंह मुंडा को इचागढ़ थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया जबकि मामले में शामिल एक अन्य आरोपित लक्ष्मीकांत अहीर जो अपने स्टूडियो में पर्चा छापने का काम करता था उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपीने बताया कि फोन पर लेवी डिमांड करने के बाद मामले के मुख्य साजिशकर्ता जगदीश महतो ने फोन को चिपडीह फुटबॉल मैदान के पास झाड़ियों में फेंक दिया गया था जिसे पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर अनुसंधान के क्रम में बरामद किया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस