संवाद सूत्र, पोटका : अवैध महुआ शराब के खिलाफ पूर्व मुखिया अनिता मुर्मू की अगुवाई में महिलाओं ने गुरुवार को चार भंिट्ठयों को तोड़ दिया। 185 हंडी शराब को जमीन में बहा दिया। वहीं गाव में शराब बेचने वाली एक महिला के घर के आगे आग जलाकर उसे धंधा बंद करने की चेतावनी दी गई।

सुबह करीब 11 बजे डोमजुड़ी की पूर्व मुखिया अनिता मुर्मू के साथ विभिन्न महिला समूहों की करीब पचास महिलाएं घरों से निकल शराब कारोबारियों के विरुद्ध एकजुट हुई। महिलाएं भाटिन के पास गुर्रा नदी किनारे पहुंचीं। यहा मंगला सोरेन, दुला हेम्ब्रम, ठुकरा सोरेन और सुधीर पातर द्वारा बनायी गई चार शराब भट्ठियों को तहस-नहस कर दिया, शराब बहा दिया गया और हंडियों को फोड़ दिया गया। इसके बाद गाव में स्थित ढ़ापु माझी के घर के आगे पुआल में आग लगाकर विरोध प्रकट किया गया। महिलाओं का आरोप था कि यहा शराब बेचा जाता है। उसे शराब का धंधा छोड़ने की चेतावनी दी गई। इसके उपरात महिलाओं ने पूरे गाव में चक्कर लगाकर लोगों को शराब का सेवन नहीं करने के प्रति जागरूक भी किया।

महिलाओं ने बताया कि शराब पीने से गाव में अब तक 15 लोग और तीन बच्चों की मौत हो चुकी है। नशे के चक्कर में युवा काम-धंधे और खेती से दूर हो रहे हैं। बीमारी से मौत होने का सिलसिला थम नहीं रहा है। अभियान को लेकर तीन दिन पहले स्थानीय थाना में भी लिखित सूचना दी गई थी। इसमें गुमदी हेम्ब्रम, लक्ष्मी चौधरी, नयन पात्रो, विनौती पातर, पारूल देवी, रूपा कालिंदी, कौशल्या पात्रो, रूपाली टुडू, सोना सोरेन, कापड़ा मुर्मू, पोमा टुडू सहित भाटिन और डुंगरीडीह की महिलाएं शामिल थीं।

Posted By: Jagran