जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। सांसद विद्युत वरण महतो ने कहा कि वन विभाग अपनी गलती सुधार रहा है। धालभूमगढ़ में ही एयरपोर्ट बनेगा। धालभूगढ़ प्रखंड कार्यालय परिसर में सांसद ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मैं जमशेदपुर का सांसद हूं, लेकिन जब मैं लोकसभा में घुसता हूं, तो सब मुझे धालभूमगढ़ के नाम से पहचानते हैं। ऐसा इसलिए है कि पांच साल में धालभूमगढ़ एयरपोर्ट का मामला कई बार सदन में उठा चुका हूं। इस एयरपोर्ट का निर्माण अवश्य होगा।

राज्य सरकार से अपेक्षा है कि वह इस दिशा में आवश्यक कार्रवाई करेगी। वन विभाग के पदाधिकारियों ने एयरपोर्ट पर गलत रिपोर्ट दी थी। इस कारण यह मामला पेचीदा हो गया था। अब इसे सुधारा जा रहा है। वन विभाग के अधिकारी पत्थर गाड़ी, बालू गाड़ी पकड़कर लोगों को परेशान करते हैं। जंगल बचाने के नाम पर वन विभाग सिर्फ लीपापोती कर रहा है। वन विभाग की गलत रिपोर्ट के कारण झारखंड, ओडिशा व पश्चिम बंगाल के ग्रामीण क्षेत्र के लोग विकास से वंचित हो रहे हैं। एयरपोर्ट बनने से तीन राज्य के लोगों को इसका लाभ मिलेगा। रोजगार के अवसर पैदा होंगे। एयरपोर्ट निर्माण से क्षेत्र का विकास होगा। किसी भी रैयतदार की जमीन नहीं जाएगी। पूर्वी सिंहभूम जिला में 75 हजार से ज्यादा घर बनना बाकी है। ऑनलाइन के चक्कर में समस्या उत्पन्न हो रही है।

 

Edited By: Rakesh Ranjan