जमशेदपुर, जासं। कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है बल्कि पॉजिटिव सोच के साथ मुकाबला करने की जरूरत है। डर, इंसान को कमजोर बना देता है और इसका सेहत पर भी असर पड़ता है। ऐसे में कोरोना को हराने के लिए बुलंद इरादे होने चाहिए। सरकार के द्वारा जारी दिशा-निर्देश का सख्ती से पालन करने की जरूरत है।

दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी, सभी के लिए अनिवार्य है। बाजार में जाए तो शारीरिक दूरी का पालन अवश्य करें। वैक्सीनेशन का डोज जरूर लें। इसके साथ ही इम्युन सिस्टम (रोग प्रतिरोधक क्षमता) को मजबूत करने के लिए पौष्टिक आहार लें। दिन में कम से कम दो बार गर्म पानी का भांप लें। ये सब कोरोना को हराने में आपकी मदद करेगा। पूर्वी सिंहभूम जिले में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय जरूर है, लेकिन यह कम तभी होगा जब आप जागरूक होंगे और प्रयास करेंगे। जिले का रिकवरी रेट 80.77 फीसद है लेकिन इसे बढ़ाकर शत फीसद ले जाना है, जिसमें आप सभी का योगदान जरूरी है।

सात लाख से अधिक लोगों की हो चुकी है जांच

जिले में अभी तक कुल सात लाख 15 हजार 511 लोगों की कोरोना जांच हुई है। इसमें 26 हजार 448 लोग संक्रमित मिले हैं। जबकि 20 हजार 781 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। जिले में कोरोना मरीजों की स्वस्थ होने की संख्या तेजी से बढ़ रही है। बीते 21 दिन में दो हजार 263 लोग स्वस्थ होकर घर लौटे हैं।

इस तरह बढ़ रहे कोरोना मरीज

  • तिथि - नए मरीज - स्वस्थ हुए - मौत
  • 1 अप्रैल - 71 - 32 - 00
  • 2 अप्रैल - 93 - 31 - 00
  • 3 अप्रैल - 101 - 26 - 01
  • 4 अप्रैल - 94 - 39 - 00
  • 5 अप्रैल - 99 - 31 - 02
  • 6 अप्रैल - 191 - 46 - 00
  • 7 अप्रैल - 149 - 40 - 00
  • 8 अप्रैल - 204 - 56 - 00
  • 9 अप्रैल - 256 - 72 - 03
  • 10 अप्रैल - 303 - 201 - 04
  • 11 अप्रैल - 362 - 131 - 04
  • 12 अप्रैल - 370 - 132 - 02
  • 13 अप्रैल - 434 - 158 - 06
  • 14 अप्रैल - 368 - 157 - 09
  • 15 अप्रैल - 492 - 264 - 04
  • 16 अप्रैल - 538 - 171 - 13
  • 17 अप्रैल - 692 - 173 - 06
  • 18 अप्रैल - 676 - 182 - 17
  • 19 अप्रैल - 639 - 176 - 10
  • 20 अप्रैल - 692 - 242 - 10
  • 21 अप्रैल - 718 - 263 - 11

---------------------------------------------------------------------------

कुल : 7542 - 2623 - 102

---------------------------------------------------------------------

ये कहते डाॅक्टर

लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। कम से कम लोग घर से बाहर निकले, ताकि वायरस के चेन को तोड़ा जा सकें। लोग अगर नहीं समझेंगे तो स्थिति और भी भयावह हो सकती है। ऐसे में सभी को मिलकर और एकजुट होकर इस महामारी से लड़ने की जरूरत है। नियम का पालन हर व्यक्ति सख्ती के साथ करें।

- डॉ. एके लाल, सिविल सर्जन।

 

Edited By: Rakesh Ranjan