घाटशिला (संवाद सहयोगी)। लंबी अवधि तक लॉकडाउन के बाद देश व राज्य अनलॉक की ओर बढ़ रहा है। अनलॉक की प्रक्रिया के तहत लॉकडाउन 5.0 में दी जा रही छूट कहीं फिर से सख्‍ती के साथ लॉकडाउन लागू करने के लिए मजबूर न कर दे।

लॉकडाउन 5.0 में दी गई छूट के बाद शहर के अधिकांश बाजार खुल गए। लोगों की चहलकदमी बढ़ गई। इस छूट का शहरवासी जिस प्रकार उपयोग कर रहे है, इससे कोरोना वायरस का खतरा बढ़ सकता है। शरीरिक दूरी न अपनाना कोरोना वायरस के संक्रमण को फैला सकता है।  

घाटशिला के मुख्‍य बाजार में नहीं दिखा शारीरिक दूरी का अनुपालन

घाटशिला के मुख्य मार्केट में ऐसा कुछ होता नहीं दिख रहा है। लोग शारीरिक दूरी के पालन करते नहीं दिख रहे। खासकर बैंकों में लोगों की भीड़ शारीरिक दूरी का उल्लंघन करती दिखाई पड़ रही। बैंक भी इस दिशा में कोई ठोस उपाय करते नहीं दिख रहे। अगर बैंक व अन्य संस्थान कोई उपाय करें भी तो अगर लोग खुद से शारीरिक दूरी अपनाने के प्रति जागरूक नहीं होंगे तो इस समस्या का हल संभव नहीं दिख रहा।

प्रशासन की ओर से दिख रही सुस्‍ती 

इधर प्रखंड व अनुमंडल प्रशासन भी सुस्त पड़ता दिख रहा। जब जिला में कोरोना वायरस के एक भी मरीज नहीं मिला था तब प्रशासनिक अमला हर रोज सड़कों व बाजारों में लाठी डंडे के साथ नजर आता था। लेकिन अब जब जिले में कोरोना वायरस के पॉजिटिव का आंकड़ा 100 के पार हो चुका है तो प्रशासन व पुलिस शांत बैठी नजर आ रही है जो बेहद ङ्क्षचताजनक है। इन दिनों सड़को, बैंकों, दुकानों व बाजारों में हो रहे शारीरिक दूरी के उल्लंघन कंही आगे कोई नई मुसीबत न खड़ी कर दे। प्रशासन की शिथिलता के कारण अब लोग घरों के बाहर शारीरिक दूरी अपनाते नहीं नजर आ रहे हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस