जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : बिष्टुपुर थाना अंतर्गत धतकीडीह हरिजन बस्ती में चार दिनों से शराब के नशे में चूर युवक उत्पात मचा रहे हैं। इस दौरान महिलाओं से छेड़खानी की गई। तलवार व कुल्हाड़ी से हमले किए गए। यहां तक कि एक दूधमुंहे बच्चे को भी पटक दिया गया। इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

मकर संक्रांति (14 जनवरी) को जश्न मना रहीं महिलाओं के साथ बस्ती के ही युवकों ने छेड़खानी की। पर्व होने के कारण उस दिन मामले को टाल दिया गया। बुधवार रात 10 बजे बस्ती के महिला और पुरुष नाच-गा रहे थे। इसी बीच नीचे और ऊपरी बस्ती के युवकों ने महिलाओं से छेड़खानी की। इसका विरोध जब बस्ती के युवकों ने किया तो उनके साथ मारपीट की गई। गुरुवार की सुबह युवकों की एक टोली बीच बस्ती में स्थित एक घर में घुस गए और परिवार के लोगों को तलवार, कुल्हाड़ी व हॉकी स्टिक से मारकर घायल कर दिए। युवकों के उपद्रव से बस्ती में अफरा-तफरी मच गई। मारपीट के दौरान महिलाओं के कपड़े तक फाड़ दिए गए। घटना के दौरान बदमाशों ने दूधमुंहे बच्चे को भी नहीं बख्शा। उसे भी जमीन पर पटक दिया। इस घटना में पूजा मुखी, मानसी मुखी, पूजा घोष और उसका एक वर्षीय बच्चा घायल हो गया। घायलों को इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल भेजा गया। इस बस्तीवासियों ने गौरव मुखी, अनिल मुखी, गोविंदा मुखी, जोजो मुखी, नीरज मुखी, मनीष मुखी, शिवम मुखी व 10 से 15 अन्य के खिलाफ लिखित शिकायत बिष्टुपुर थाना में की है। पुलिस पड़ताल कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस