जमशेदपुर (जासं) । जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति के कचरा ढोने वाले वाहन के करीब 80 चालकों ने सुरक्षा, वेतन बढ़ाने, ईएसआई व पीएफ की मांग को लेकर शुक्रवार तड़के हड़ताल करने की घोषणा कर दी। वाहन चालकों की हड़ताल होने से पूरे शहर के अलावा घरों में कचरा जमा हो गया। सुबह साढ़े छह बजे से ही सिदगोड़ा स्थित कचरा डंप एरिया में वाहन चालक जमा हो गए। इस दौरान काफी संख्या में कचरा उठाने वाले मजदूर भी आ गए, लेकिन चालकों ने गाड़ी चलाने से मना कर दिया। इस संबंध में जानकारी देते हुए वाहन चालक देबू, जयप्रकाश, विदेशी राम, राजा, विप्लव मंडल, दिलीप महतो, बीरेंद्र पांडेय, राजकुमार आदि ने बताया कि जब कोरोना से साथ में काम करने वाले एक मजदूर की मौत हो गयी। लेकिन उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं था।

ऐसे समय में जब लोग अपने-अपने घरों परिवार के साथ रह रहे हैं, हमलोग अपना घर परिवार छोड़कर अपना जी जान लगाकर शहर की सफाई में जुटे हुए हैं, इसके बावजूद कोई हमारा ख्याल नहीं रख रहा है। चालकों ने कहा कि जब भी वेतन व सुरक्षा की मांग करते हैं, संवेदक गाड़ी की चाबी जमा करने की बात करते हैं। सफाई वाहन चालकों के हड़ताल की सूचना मिलते ही संवेदकों के साथ ही जेएनएसी के आफिसरों के होश उड़ गए। इसके बाद आनन-फानन में सिटी मैनेजर रवि भारती, सिटी मैनेजर सोनल सिंह मौके पर पहुंचे और सफाई वाहन चालकों को सुरक्षा से लेकर अन्य समस्याओं के लिए कुछ दिन का मोहनत मांगा गया।

लोगों को समझाया गया, इसके बाद चालक मान गए और करीब तीन घंटे के बाद सवा 10 बजे से काम शुरू किया। जानकारी हो कि वाहन चालक के एक रिश्तेदार की मौत बुधवार को कोरोना से हो गयी थी। जिसके मुआवजा की मांग करते हुए गुरुवार को शव के साथ एमजीएम अस्पताल में हंगामा किया। सूचना के बाद सिटी मैनेजर रवि भारती मौके पर पहुंच कर मामला को समझा-बुझाकर शांत कराया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस