चाईबासा, जासं। चाईबासा शहर के गांधीटोला मुहल्ले में मंगलवार की अहले सुबह से ही जंगली भालू के हमले से एक पुरुष व तीन महिला घायल होने से सनसनी फैल गई और लोग दहशत में आ गए। हर कोई गांधीटोला जाने वाले रास्ते से कतराने लगा और सभी के मन में डर बस गया। जिस जगह पर भालू ने लोगों पर हमला किया। उस जगह काफी झाड़ियां है। भालू हमला कर उसी जंगलनुमा जगह में प्रवेश कर गया। मंगलवार को दिन भर वन विभाग के पदाधिकारियों व कर्मियों की मौजूदगी के बावजूद भालू का पता नहीं चलने से स्थानीय लोगों में खौफ है और आने-जाने वाले दिन भर परेशान रहे।

लोगों की प्रतिक्रिया

पत्नी कुंती देवी सुबह मार्निंग वाक पर निकली थी। इसी दौरान सुबह 4.10 बजे अचानक भालू ने हमला कर शरीर के कई हिस्से में काट लिया। इससे पत्नी की तेजी से आवाज सुनाई दी और 15 से 20 कुत्तों भोंकने लगे, तो भालू तालाब की ओर भाग गया। सुबह-सुबह गाय की सेवा कर ही रहे थे, तब तक हम भी पहुंच गए और पत्नी को किसी तरह घायलावस्था में उठाकर सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां इलाज चल रहा है।

सुरेंद्र यादव, गांधीटोला निवासी।

मंगलवार की सुबह 4.10 बजे जैसे ही भालू के हमले की जानकारी मिली तो हम लोग अचानक परेशान हो गए। सबसे पहले घायलों को किसी तरह सदर अस्पताल इलाज के लिए पहुंचाया। इसके बाद वन विभाग की ओर से भालू आने की सूचना दी गई। क्योंकि भालू ने तीन महिला समेत एक पुरुष को घायल कर लहूलुहान कर दिया था। इससे पूरे मुहल्ले में दहशत फैल गई और लोग रास्ते से आने-जाने में कतराने लगे।

राजेश पांडेय, गांधी निवासी।

मंगलवार का दिन गांधीटोलावासियों के लिए दहशतजदा रहा है। सुबह-सुबह जैसे ही गाय की सेवा कर रहे थे, तभी पता चला कि तीन महिला समेत एक पुरुष को जंगली भालू ने बुरी तरह से घायल कर दिया है। आसपास के लोग घरों में दुबक गए और घर से निकलने के लिए सोचने लगे। पूरा दिन वन विभाग के पदाधिकारियों व कर्मियों की पहल के बावजूद भालू का कोई पता नहीं चला। इससे स्थानीय लोगों में खौफ है।

सरयू यादव, गांधीटोला निवासी।

Edited By: Madhukar Kumar