जमशेदपुर : ठंड बढ़ने के साथ ही ऊंचाई वाले इलाकों में पहाड़ के कारण घना कोहरा छा जाता है। जिसके कारण दृश्यता कम हो जाती है। इसका असर ट्रेनों की रफ्तार पर पड़ता है। वर्तमान में अधिकतर ट्रेन 90 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है लेकिन धुंध के कारण ट्रेन अपने पूरी रफ्तार से नहीं चल पाती है।

इसका सीधा असर ट्रेनों के ट्रैफिक पर पड़ता है। बिजी रूट पर यदि एक ट्रेन देर से चली तो उसके पीछे चलने वाली सभी ट्रेनों की रफ्तार भी धीमी हो जाती है। ऐसे में ठंड बढ़ने से पहले ही रेलवे ने कई ट्रेनों को 28 फरवरी तो कुछ ट्रेनों को दो मार्च तक के लिए रद कर दिया है।

दक्षिण पूर्व रेलवे जोन में भी आठ ट्रेन रद

दक्षिण पूर्व रेलवे ने ठंड के कारण आठ ऐसी ट्रेनों का रद किया है जो ठंड के कारण पिछले साल सबसे अधिक विलंब से चलती थी। ऐसे में दक्षिण पूर्व रेलवे ने समय से पहले ही इन सभी आठ ट्रेनों को रद कर दिया है। हालांकि इन सभी ट्रेनों को 29 नवंबर से छह दिसंबर तक के लिए रद किया गया था। लेकिन अपने नए आदेश में जाेन ने सभी ट्रेनों को अधिकतम दो मार्च 2022 तक के लिए रद कर दिया है।

नई दिल्ली की अधिकतर ट्रेन

ठंड के मौसम में नई दिल्ली सहित पंजाब व जम्मू की ओर जाने वाली ट्रेनों को कोहरे का सबसे ज्यादा सामना करना पड़ता है। ऐसे में रेलवे ने इन सभी ट्रेनों को रद किया है।

इन ट्रेनों को किया गया है रद

  • 12873 : हटिया आनंद विहार टर्मिनल : 28 फरवरी 2022
  • 12874 : आनंद विहार टर्मिनल से हटिया : 01 मार्च 2022
  • 22857 : सांतरागाछी से आनंद विहार टर्मिनल : 28 फरवरी 2022
  • 22858 : आनंद विहार टर्मिनल से सांतरागाछी : 01 मार्च 2022
  • 18103 : टाटा से अमृतसर जालियावाला बाग एक्सप्रेस : 28 फरवरी 2022
  • 18104 : अमृतसर से टाटानगर जालियावाला बाग एक्सप्रेस : 02 मार्च 2022
  • 12365 : पटना - रांची एक्सप्रेस : दिसंबर माह में तीन, 10, 17, 24 व 31। जनवरी में सात 14, 21 व 28 और फरवरी माह में चार, 11, 18 व 25।
  • 12366 : रांची-पटना एक्सप्रेस : दिसंबर में तीन, 10, 17, 24 व 31। जनवरी 2022 में सात, 14, 21 व 28। फरवरी में चार, 11, 18 व 25।

Edited By: Jitendra Singh