जासं, जमशेदपुर : केंद्र सरकार की ओर से बैकिग रेगुलेशन एक्ट 1970 व 1980 में संशोधन के लिए लोकसभा अध्यक्ष को भेजा है। इसके विरोध में यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन ने आगामी 16 व 17 नवंबर को दो दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल की घोषणा की है।

यूनियन के जमशेदपुर इकाई के नेताओं की बुधवार शाम बिष्टुपुर में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिला संयोजक रिटू रजक ने केंद्र सरकार द्वारा बैकिग रेगुलेशन बिल में संशोधन के प्रस्ताव को देश के लिए घातक और आम जनती की जमा पूंजी को निजी का उपयोग करने व लूट के लिए खुली छूट देने वाला बताया। बैठक में यूनियन नेताओं ने निजीकरण का रास्ता साफ करने, बैकिग सेक्टर को बड़े पूंजीपतियों के हाथों में सौंपने और देश की आर्थिक स्थिति बिगड़ने पर आशंका जताई। बैठक के दौरान मुख्य रूप से आरबी सहाय, हीरा अरकने, सपन अदख, अमिताभ घोष, सुजीत घोष, केएन नायडू, रामजी प्रसाद, सुब्रतो घोष सहित अन्य उपस्थित थे।

-------------

बैठक में यह लिया गया निर्णय

-तीन दिसंबर को सभी सांसदो को दिया जाएगा ज्ञापन।

-चार दिसंबर को सभी राज्य की राजधानी में धरना।

-संसद के सामने यूनियन का धरना प्रदर्शन।

-सात दिसंबर को पूरे देश में प्रदर्शन

-आठ दिसंबर को सभी राज्य की राजधानी में प्रदर्शन।

-नौ दिसंबर को कर्मचारियों द्वारा काला बिल्ला लगाया जाएगा।

-10 दिसंबर को कर्मचारियों द्वारा ट्वीटर कैमेन।

-देश के सभी राज्यों की राजधानी में प्रोटेस्ट मास्क के साथ प्रदर्शन

-14 को प्रधानमंत्री को ऑनलाइन ज्ञापन।

-16-17 दिसंबर को राष्ट्रव्यापी हड़ताल

Edited By: Jagran