घाटशिला, जासं। मां की डांट-फटकार से नाराज होकर गालूडीह थाना क्षेत्र के बाघुड़िया पंचायत के काशिया गांव की 17 वर्षीय युवती ने रेलवे लाइन के ट्रैक पर खुदकुशी कर अपनी जान दे दी। घाटशिला थाना क्षेत्र के जगन्नाथपुर गांव के समीप रेलवे ट्रैक पर रविवार रात अज्ञात शव मिलने पर रेल पुलिस व घाटशिला पुलिस ने शव को अनुमंडल अस्पताल के शीत गृह में रखा था। सोमवार सुबह युवती की पहचान उसकी मां नीलिमा महतो ने बेटी मुकेश्वरी महतो के रुप में की। घटना की सूचना पर पार्षद सुभाष सिंह, कांग्रेसी नेता अशोक महतो अनुमंडल अस्पताल पहुंचे। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया।

मां ने डाटा को युवती ने की खुदकुशी

इस संबंध मृतिका मुकेश्वरी की मां नीलिमा महतो ने घाटशिला पुलिस को बताया की पति की मौत के बाद काफी तकलीफ कर तीन बेटी व एक बेटा का परवरिश मैंने किया। घर के काम-काज व पढ़ाई नहीं करने को लेकर रविवार शाम चार बजे छोटी बेटी मुकेश्वरी को डांट-फटकार किया था। रविवार को वह 4.30 बजे अपनी साइकिल लेकर घर से निकली थी। शाम होने के बाद जब घर नहीं आई तो देवर जलेश्वर महतो व ग्रामीणों संग काफी खोजबीन किया, लेकिन वह नहीं मिली। देवर जलेश्वर महतो व ग्रामीणों ने गालूडीह जाकर खोज की तो पता चला कि रेल लाइन में एक युवती का शव पड़ा है। सुबह अस्पताल गए। कपड़ा से बेटी की पहचान हो पाई। घटना की जानकारी मिलने पर मुखिया पविता सिंह, सुनील सिंह ने पीड़ित परिवार से मिलकर सांत्वना प्रकट की है।

मृतका की साइकिल का पता लगा रहे परिजन

गालूडीह थाना क्षेत्र के बाघुड़िया पंचायत के काशिया गांव के युवती मुकेश्वरी महतो को उसकी मां के द्वारा फटकार लगाने के बाद वह घर से अपने साइकिल से निकली थी। घाटशिला थाना क्षेत्र के जगन्नाथपुर गांव के समीप रेलवे ट्रैक पर मुकेश्वरी का शव रात करीब 11 बजे मिला। जिस साइकिल से माहेश्वरी घर से करीब 8 किलोमीटर आई थी। वह साइकिल रेल ट्रैक के पास नही मिला। आसपास के कई लोगों से पूछताछ किया गया। लेकिन साइकिल का कोई पता नहीं चल पाया। परिजन व पुलिस मुकेश्वरी के गायब साइकिल का पता लगाने में जुटी है। पुलिस मामले के सभी बिंदूओं की जांच में जुटी है।

Edited By: Madhukar Kumar