जमशेदपुर, जागरण संवाददाता : पूर्वी सिंहभूम जिले के पटमदा थाना क्षेत्र के बिड़रा गांव में ट्रक से बच्ची की मौत के बाद विरोध में सड़क जाम करने, ट्रक के चालक-खलासी को बंधक बनाने, हरवे-हथियार से लैंस होकर पुलिसकर्मियों से मारपीट करने और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचने वाले 60 ग्रामीणों पर कानूनी कार्रवाई की गई है और अलग-अलग तीन प्राथमिकी पटमदा थाना में दर्ज की गई है जिससे ग्रामीणों में खलबली है। गौरतलब है शुक्रवार देर शाम ट्रक की चपेट में आने से एक बच्ची की मौत हो गई। एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हो गया था।

ग्रामी कृष्णा कालिंदी, भूषण रुहीदास, महेश्वर कालिंदी, गंभीर रुहीदास, सुसीन महतो, निमाई कैवर्तो, संतोष सिंह सरदार, भीम महतो, सुखेन सिंह, मनोहर महतो, दीपक रुहीदास, केदार महतो, मुथुर रुहीदास, छोटू कालिंदी समेत 60 ग्रामीणों पर पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला करने, मारपीट किए जाने और सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने की प्राथमिकी पटमदा थाना प्रभारी अशोक राम की शिकायत पर दर्ज की गई है।

वहीं ट्रक के चालक टेल्को निवासी कार्तिक प्रसाद को जान मारने की नीयत से पेड़ में बांधकर लाठी-डंडा से पिटाई कर घायल करने के मामले में उसकी शिकायत पर ग्रामीणों पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है। तीसरी प्राथमिकी बच्ची दीया रूहीदास की दुर्घटना में मौत मामले में ट्रक चालक कार्तिक प्रसाद के खिलाफ पटमदा थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पटमदा के बिडरा गांव के पास शुक्रवार शाम पांच बजे छाई लदी ट्रक अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे उतर गई थी, जिससे सड़क के पास खेल रही पांच वर्षीय बच्ची दीया रूहीदास वाहन की चपेट में आ गई जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि तीन वर्षीय शिवम रूहीदास गंभीर रूप से घायल हो गया था। वह टीएमएच में दाखिल है। 

Edited By: Jitendra Singh