जागरण संवाददाता, जमशेदपुर :

भारत उन चंद विकासशील देशों में है, जिसने वर्ष 1999 में आर्थिक उदारीकरण को अपनाया। इससे देश की अर्थ व्यवस्था में आंशिक बाधा तो आई, लेकिन इसके फायदे भी हुए। इसके बाद देश ने वर्ष 2005 से 2015 के बीच आर्थिक विकास की रफ्तार पकड़ी, जिससे विकास दर दो अंक के करीब पहुंचने लगा है। यदि यही रफ्तार कायम रही तो भारत 2050 तक आर्थिक महाशक्ति बन जाएगा।

ये बातें गोदरेज ग्रुप के चेयरमैन आदि गोदरेज ने शनिवार को कहीं। एक्सएलआरआइ-जेवियर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट के 61वें दीक्षा समारोह को संबोधित कर रहे गोदरेज ने मौजूदा सरकार की सराहना की। उन्होंने कहा कि हाल में लिए गए नोटबंदी (डिमोनेटाइजेशन) के फैसले से लोगों को थोड़ी परेशानी हुई, लेकिन इसके दीर्घकालिक लाभ होंगे। आर्थिक गतिविधियों का डिजिटलाइजेशन और आधार लिंकिंग के बड़े फायदे होंगे। सरकार देश में एक जुलाई से जीएसटी (गुड्स एंड सर्विस टैक्स) लागू करने जा रही है, जिससे आर्थिक विकास दर बढ़ेगी। इसी क्रम में उन्होंने भारत को बहुत बड़ा कंज्यूमर मार्केट बताते हुए कहा कि इसमें सभी का ध्यान मध्यम व उच्च आय वर्ग पर है। इसके मद्देनजर गोदरेज ने भी अपने आपको बदला है। हमने ना केवल कंपनी का लोगो बदला, बल्कि नये अंदाज में उपभोक्ता तक पहुंच रहे हैं। गोदरेज ने एक्सएलआरआइ के छात्रों से कहा कि युवाओं से देश को बड़ी उम्मीद है। पढ़े-लिखे उत्साही युवा हर क्षेत्र में अच्छा काम कर रहे हैं। ये देश को बदल रहे हैं। आपके हर व्यक्तिगत प्रयास का लाभ भारत को समृद्ध बनाने में मदद करेगा। सरकार भी युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए लगातार पहल कर रही है, अवसर का लाभ उठाएं।

--------

मैनेजमेंट छात्रों को दिए पांच टिप्स

1. लीडर बनने के लिए काम करें। यह कठिन है, लेकिन असंभव नहीं। लोकप्रियता के लिए कोई काम ना करें।

2. आप साधनों का उपयोग सोच-समझकर करें, साधनों पर निर्भर ना बनें।

3. जीतने के लिए आगे बढ़ें, लेकिन इसके लिए गलत रास्ते ना अपनाएं। किसी को कभी धोखा देने की ना सोचें।

4. लक्ष्य की ओर धीरे-धीरे बढ़ें, सफलता का कोई रास्ता शॉर्टकट नहीं होता।

5. काम को जुनून बनाएं, आनंद उठाएं। यदि आप जॉब का आनंद नहीं उठा पा रहे हैं, तो खुद को बदल लें या जॉब बदल लें।

-------

जहांगीर घांदी मेडल से नवाजे गए आदि गोदरेज

एक्सएलआरआइ के 61वें दीक्षा समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने आए गोदरेज ग्रुप के चेयरमैन आदि गोदरेज को 'सर जहांगीर घांदी मेडल' से सम्मानित किया गया। औद्योगिक व सामाजिक शांति के लिए यह सम्मान एक्सएलआरआइ के निदेशक मंडल के चेयरमैन व टाटा स्टील के प्रबंध निदेशक (भारत व दक्षिण पूर्व एशिया) टीवी नरेंद्रन ने प्रदान किया। इस अवसर पर एक्सएलआरआइ के निदेशक फादर ई. अब्राहम एस.जे. व डीन (एकेडेमिक्स) आशीष कुमार पाणि समेत अन्य शिक्षक व छात्र उपस्थित थे।

Posted By: Jagran