जमशेदपुर, जासं पूर्वी विधानसभा क्षेत्र का विधायक बनाने में इस क्षेत्र की कंपनियों के कर्मचारियों की अहम भूमिका रही है। यहां के 40 फीसद मतदाता क्षेत्र की कंपनियों में जुड़े हुए हैं। शहर गवाह है अभी तक केवल टाटा मोटर्स के ही सात कर्मचारी विधायक बन चुके हैं तथा उन्हें जीत दर्ज कराने में कंपनी कर्मचारियों की अहम भूमिका रही है।

पूर्व विधायक दीनानाथ पांडेय, मंगल राम, शमशुद्दीन खान, तुलसी रजक, एमपी सिंह व मजदूर नेता वीजी गोपाल को विधायक बनाने में टाटा मोटर्स के कर्मचारियों ने बढ़-चढ़कर भागीदारी निभाई है। यही देखकर मजदूर नेता हर बार लोकसभा व विधानसभा चुनाव में टिकट पाने की दौड़ में शामिल हो जाते हैं। इस बार भी टिस्को मजदूर यूनियन के अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय ने जबरदस्त लॉबिंग की, लेकिन अभी तक उन्हें सफलता मिलती नहीं दिख रही है। वैसे कांग्रेस ने अभी तक यहां से उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है।

ये रही प्रमुख कंपनियां

पूर्वी विधानसभा क्षेत्र की प्रमुख कंपनियों में टाटा मोटर्स, टाटा कमिंस, तार कंपनी, जेम्को, टिनप्लेट, इंकैब, ट्यूब डिवीजन आदि शामिल हैं। केवल टाटा मोटर्स अनुषंगी इकाईयां व टाटा कमिंस भी में ही स्थायी, अस्थायी व ठेका मजदूरों को मिलाकर 20 हजार कर्मचारी कार्यरत हैं। वहीं इनके परिजन को मिलाकर देखा जाए तो टाटा मोटर्स से जुड़े लोगों की संख्या करीब 90 हजार पहुंच जाएगा। वहीं तार कंपनी व जेम्को में स्थायी व ठेका मजदूरों को मिलाकर करीब दो हजार मजदूर कार्यरत हैं। इनके परिजनों को मिलाकर देखा जाए तो इन कंपनियों से संबंधित वोटरों की संख्या आठ हजार पहुंच जाएगा। ऐसे ही टिनप्लेट, ट्यूब डिवीजन व बंद पड़ी इंकैब इंडस्ट्रीज कंपनियों को मिलाकर देखा जाए तो अप्रत्यक्ष रूप से इनसे 15 हजार वोटरों का जुड़ाव है। इस प्रकार क्षेत्र की कंपनियों के मजदूर गोलबंद होकर जिस प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करते हैं उनकी जीत पक्की मानी जाती है।

जमशेदपुर पूर्वी में तीन लाख मतदाता

 पूर्वी विधानसभा क्षेत्र में कुल मतदाताओं की संख्या तीन लाख है। इसमें एक लाख 56 हजार 490 पुरूष व एक लाख 43 हजार 981 महिला मतदाता हैं। 51 किन्नर भी यहां के वोटर हैं। यहां के करीब 40 फीसद मतदाता इस क्षेत्र की कंपनियों से जुड़े हुए हैं।  

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस