जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। भारतीय मजदूर संघ के 67वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित संगोष्ठी में संघ के स्थापना के उद्देश्यों पर विस्तार से चर्चा हुई। जिसमें राष्ट्रहित को सर्वोपरि रखकर उद्योग हित व श्रमिक हित की रक्षा के लिए संघर्ष करने का निर्णय लिया गया। श्रमिकों को उनके अधिकारों के संरक्षण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले देश के सबसे बड़े श्रम संगठन भारतीय मजदूर संघ से जुड़ने पर जोर दिया गया।

बिष्टुपुर तुलसी भवन के चित्रकूट सभागार में आयोजित संगोष्ठी में संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक अश्वनी अवस्थी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि आज हम सभी संकल्प लें कि भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी के आदर्शों पर चलकर देश ही नहीं विश्व के एकमात्र गैर राजनीतिक मजदूर संगठन का विस्तार करेंगे तथा इसकी नीति और सिद्धांतों पर चलते हुए अपने उद्योग और श्रमिकों के हित की रक्षा के लिए संघर्ष करते रहेंगे। इसके पूर्व संस्थापक दत्तोपंत ठेंगड़ी एवं भारत माता के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम प्रारंभ हुआ। कार्यक्रम का संचालन संतोष साहू ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन अमरेंद्र सिंह ने दिया। संगोष्ठी में संगठन की मजबूती व उसके विस्तार पर गहन मंथन किया गया। स्थापना दिवस पर राष्ट्रहित में काम करते हुए मजदूरों के हित में काम करने का संकल्प लिया गया।

इनकी रही मौजूदगी

इस मौके पर भारतीय मजदूर संघ के जिला मंत्री अभिमन्यु सिंह, तुलसी के मानद महासचिव संजय तिवारी, कोषाध्यक्ष मुकेश कुमार, जिला उपाध्यक्ष कृष्णा सिंह् वरिष्ठ कार्यकर्ता आरए अवस्थी, सुनील कुमार राम,राहुल कुमार रजक, दीपक कुमार शर्मा, सरोज दास,राजीव रंजन, शिवपूजन सिंह,एमएच राव,संजय मिश्रा,राकेश कुमार,नीरज कुमार,प्रमोद कुमार,प्रेम कुमार सिंह,अजय कुमार राय सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

Edited By: Rakesh Ranjan