जमशेदपुर (जासं)। झारखंड के विश्वविद्यालयों के शिक्षक अगले आदेश तक घर से ही कार्य (वर्क फ्रॉम होम) करेंगे। इस आदेश से संबंधित पत्र केंद्रीय मानव संसाधन विकास विभाग के उच्चत्तर शिक्षा विभाग के सचिव अमित खरे ने यूजीसी एवं राज्य के मुख्य सचिवों को भेजा है।

वर्तमान में शिक्षक अपनी सुविधानुसार घर या कॉलेज में आकर ऑनलाइन क्लास ले रहे थे। लेकिन अब उन्हें घर बैठे क्लास लेना है,  इसमें शर्त यह है कि कॉलेज के स्थायी शिक्षकों को प्रतिदिन कम से कम दो विषय का ऑनलाइन क्लास लेना होगा। इसकी मॉनिटङ्क्षरग कॉलेज के ङ्क्षप्रसिपल करेंगे। अगर शिक्षक यह कार्य नहीं करते हैं तो उनका वेतन काटा जा सकता है। 

विश्वविद्यालय आवश्यकतानुसार कर्मचारियों को कार्यालय से संबंधित कार्य के लिए बुला सकते हैं। राज्य के मुख्य सचिव द्वारा आदेश पारित होने के बाद ही इसे सभी विश्वविद्यालय मानेंगे।

संविदा आधारित शिक्षकों को मिलेगी राहत

केंद्रीय मानव संसाधन विकास विभाग की ओर से जारी पत्र से अब संविदा आधारित शिक्षकों को राहत मिल जायेगी। उनका मानदेय बकाया भी इसी आधार पर भुगतान हो जायेगा। अब वे भी घर में बैठकर ऑनलाइन क्लास लेंगे। उन्हें कॉलेज आने के लिए बाध्य किया जा रहा था। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस