हजारीबाग : कोई भी समाज बिना शिक्षा के अधूरा होता है। समुचित शिक्षा की सयहायता से ही कोई समाज विकास के पथ पर उग्रसर हो सकता है। यह बातें सक्सेस गुरू एके मिश्रा ने स्थानीय संत कोलंबा न्यू स्टडियम में आयोजित झकाझोर झूमर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बतौर मुख्य अतिथि कही। झारखंड भुइंया समाज संघर्ष समिति हजारीबाग के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि जिला भुअर्जन पदाधिकारी सह प्रभारी सदर अनुमंडलाधिकारी शब्बीर अहमद ने समाज के लोगों से विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने का आह्वान किया। इससे पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए समिति के प्रदेश सचिव रणजीत कुमार ने मांग की कि भुइंया समाज को आदिवासी का दर्जा दिया जाए। इसको लेकर समाज द्वारा लंबे समय से राज्य में सांस्कृतिक आंदोलन चलाया जा रहा है। इस अवसर पर प्रदेश उपाध्यक्ष महेंद्र राम, प्रदेश अध्यक्ष अर्जुन राम नायक ने समाज के लोगों को अंधविश्वास और नशे से दूर रहने का आह़वान किया। कार्यक्रम के दौरान अतिथियों द्वारा समाज के लोगों के साथ मांदर बजाते हुए झकाझोर झूमर नृत्य में भाग लिया गया। समारोह में बड़ी संख्या में भुइंया समाज के लोग मौजूद थे।

Posted By: Jagran