बाटम

जिला स्तरीय कोविड टास्क फोर्स की बैठक में हुई उपकरणों व सुविधाओं की डीसी ने की समीक्षा

संस,हजारीबाग : समाहरणालय सभागार में बुधवार को जिला स्तरीय कोविड टास्क फोर्स की बैठक उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में हुई। बैठक में कोविड महामारी के मद्देनजर संभावित तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए जिला एवं प्रखण्ड स्तर पर स्वास्थ्य सुविधाओं, अस्पतालों में आधारभूत संरचनाओं, टीकाकरण व कोविड जांच की स्थिति आदि की अद्यतन स्थिति समीक्षा की गई।

बैठक में अस्पतालों में आधारभूत स्वास्थ्य सुविधाओं, चिकित्सीय उपकरणों, पाईपलाइन से आक्सीजन आपूर्ति सहित स्वास्थ्य कर्मियों के संबंध में कोविड टास्क फोर्स को जानकारी दी गई। मौके पर बताया गया कि जिले के अधिकांश सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में आवश्यक स्वास्थ्य बुनियादी सुविधाओं सहित चिकित्सीय उपकरणों का अधिष्ठापन कर लिया गया है। जबकि बरही ,कटकमसांडी व ईचाक सीएचसी में अब तक चिकित्सीय वार्ड तैयार नहीं किए जाने एवं चिकित्सीय उपकरणों, बेड, ऑक्सीजन पाईपलाईन आदि की व्यवस्था नहीं किए जाने पर उपायुक्त ने चिता जाहिर की। साथ ही संबंधित एमओआईसी को फटकार लगाते हुए एक सप्ताह में पूरी तरह से चिकित्सीय वार्ड का निर्माण कराने का सख्त निर्देश दिया। साथ ही जिला प्रशासन के द्वारा उपलब्ध कराए गए सभी चिकित्सीय उपकरण का अधिष्ठापन एवं संचालन प्रारंभ करें। इसके लिए संबंधित प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों को भी सीएचसी की व्यवस्था को चुस्त दुरूस्त बनाने का निर्देश दिया। बैठक में उपायुक्त ने कहा कि जहां चिकित्सीय वार्ड तथा चिकित्सीय उपकरणों का अधिष्ठापन किया जा चुका है तत्काल प्रभाव से नये उपकरणों व सुविधाओं के साथ चिकित्सीय सेवा प्रारंभ करें । साथ ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में प्रतिनियुक्त एमएनएम व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों को नये अधिष्ठापित चिकित्सीय उपकरणों को संचालित करने में तकनीकि दक्षता के लिए प्रशिक्षण दें। साथ ही सीएचसी व पीएचसी में आवश्यक दवाओं की पर्याप्त मात्रा में स्टॉक संधारित करने का निर्देश दिया। बैठक में उपायुक्त ने विभिन्न विभागों को अभियंताओं को चिकित्सीय केन्द्रों के ढांचागत निर्माण व मरम्मति कार्य में तेजी लाने व समय पर गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने का निर्देश दिया। वहीं जिला अभियंता के द्वारा स्वास्थ्य केन्द्रों के निर्माण कार्य को अब तक प्रारंभ नहीं किये जाने पर उपायुक्त ने फटकार लगाते योजना से संबंधित स्पष्ट मंतव्य देने का निर्देश दिया। इस अवसर पर जिले में चल रहे कोविड टीकाकरण की समीक्षा करते हुए फ्रंट लाईन वर्कर व हेल्थ केयर वर्कर का शत प्रतिशत टीकाकरण करने, प्रथम तथा द्वितीय टीका के बीच के अंतर को कम करने के लिए रणनीति बनाने व कार्ययोजना बनाकर कार्य करने का निर्देश दिया। बैठक में डीडीसी अभय कुमार सिन्हा, सिविल सर्जन डॉ एसपी सिंह, अपर समाहर्ता रंजित कुमार लाल, प्रशिक्षु समाहर्ता रीना हांसदा, एसबीएमसीएच के अधीक्षक, बरही एसडीओ पूनम कुजूर, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, एमओआईएस सहित कई अन्य मौजूद थे।

Edited By: Jagran