फोटो - 27

संस्था से जुड़े लोगों ने प्रेस वार्ता में दी जानकारी, कार्रवाई की मांग

1882 में स्थापित हुआ था केशव हॉल

शहर के लिए है ऐतिहासिक स्थल

संवाद सहयोगी हजारीबाग : 1882 में स्थापित यूनियन क्लब एंड लाइब्रेरी (केशव हॉल) पर अब भू माफियाओं की नजर है। अपने आप में कई इतिहास समेटे केशव हॉल में पर अवैध निर्माण किया जा रहा है। अवैध नर्सिंग होम का संचालन किया जा रहा है। अब इसे लेकर यूनियन क्लब एंड लाइब्रेरी से जुड़े लोगों ने आवाज उठानी शुरू कर दी है। क्लब के अध्यक्ष विक्रम सेन व सचिव शंकर बनर्जी ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता में बताया कि केशव हॉल की भूमि और बनाए गए किराए की दुकान पर कुछ लोगों की गंदी नजर है। पूरे प्रकरण का जिक्र करते हुए बताया है कि

यहां उत्तर पश्चिम भाग में पूर्व में क्लीनिक चला रहे शफिकुर रहमान पर आरोप लगाया है । बताया कि वह डिफॉल्टर हो गया था, जिसके बाद उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जानी थी। लेकिन, उसने अनधिकृत व्यक्ति रामचंद्र प्रसाद को गैर कानूनी तौर क्लिनिक को सौंप दिया। प्रबंधन को इसकी कोई सूचना नही दी। इनके द्वारा अनधिकृत रूप से नर्सिंग होम चलाया जा रहा है। अब गैर कानूनी रूप से रामचंद्र प्रसाद के द्वारा इस पर अवैध निर्माण भी शुरू कर दिया गया है। जबकि केशव हॉल की भूमि खास माल है, जो लीज पर ली गई है। बिना किसी सूचना के यहां कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने प्रशासन से निर्माण कार्य पर तत्काल रोक लगाया जाए तथा धरोहर को बचाने की मांग की है।

Edited By: Jagran