बाटम

व‌र्ल्ड पिकनिक डे पर विशेष जिले के धार्मिक स्थलों का करेंगेवर्चुअल दर्शन व मंदिरों में करेंगे पूजा मासूम अहमद, हजारीबाग : आज शुक्रवार यानी 18 जून को व‌र्ल्ड पिकनिक डे है। मगर वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण कोविड 19 के मद्देनजर सभी पिकनिक स्पॉट व धार्मिक स्थल बंद है। ऐसे में इस दिवस को लेकर पिकनिक के शौकीनों में निराशा तो है मगर फिर भी युवा वर्ग कहां मानने वाला है। लॉकडाउन में बाहर नहीं निकलना ही सही मगर यह लोग अपने अपने तरीके से पिकनिक अवश्य मनाएंगे। यह कहना है उन युवाओं का जो विश्व पिकनिक डे को अपने अपने तरीके से अवश्य मनाएंगे। कोविड प्रोटोकाल और गाइडलाइन ने उन्हें इसका रास्ता भी दिखला दिया है। इन लोगों को कहना है कि जब सब कुछ वर्चुअल ओर आनलाइन हो रहा है तो पिकनिक क्यों नहीं मना सकते। भले एक दोस्त दूसरे से दूर होंगे मगर पिकनिक का मेन्यू आनलाइन साझा कर वर्चुअल माध्यम से अवश्य मनाएंगे। वहीं उनका यह भी कहना है कि लॉक डाउन में धार्मिक स्थल भी बंद हैं मगर दर्शन व पूजन कार्य वर्चुअल माध्यम से भी घर बैठे किया जा सकता है। इससे कम से कम मानसिक संतुष्टि जो जरूर मिलेगी। आइये जानते हैं कुछ युवाओं के विचार -

1. फोटो - 20

शहर के इंद्रपूरी चौक निवासी युवा कुंदन साकेत झा कहते हैं कि इस वर्ष हम सब लोगों ने वर्चुअल माध्यम से पिकनिक मनाने का निर्णय लिया है। ऐसे में हम सब घर में ही तय शुदा मीन्यू के अनुसार भोजन तैयार करेंगे। मगर अपने दोस्तों संग वर्चुअल माध्यम से इंज्वाय करेंगे।

2. फोटो - 21

चिश्तिया मुहल्ला निवासी सैयद अर्श जमील का कहना था कि वह दिल्ली के जामिया विश्वविद्यलाय से विधि स्नातक कर रहे हैं। लॉक डाउन में घर आए हुए है। घर पर ही पिकनिक का मजा लेंगे। परिवार के साथ पिकनिक में जमा तो आएगा मगर दोस्तों को मिस करेंगे। ऐसे में उनके साथ आनलाइन संपर्क में रहकर पिकनिक साझा करेंगे।

3. फोटो - 22

खुदरा खाद्यान्न् व्यवसायिक संघ और नार्थ छोटानागपूूर चेंबर आफ कामर्स के मीडिया प्रभारी विजय जैन लुहाडिया ने कहा कि इस वर्ष लाक डाउन के कारण वह

सम्मेद शिखरजी में गुनायतन में विराजित मुनि श्री 108 प्रमाण सागर जी के सानिध्य में गुनायतन मंदिर में प्रात: अभिषेक व शांति धारा वेबिनार के माध्यम से हम लोग लाईव देखेंगे व घर-घर भक्ति भाव से पूजा पाठ अर्चना करेंगे

4. फोटो - 23

शहर के दीपूगढा निवासी राजेश मेहता का कहना था कि इस वर्ष लाकडाउन के कारण घर पर ही परिवार के साथ पिकनिक मनाएंगे मगर वर्चुअल माध्यम से मित्रों और संबंधियों के साथ पिकनिक साझा करेंगे। इससे एक दूसरे के सुख दुख के अनुभव को घर बैठे ही एक दूसरे के साथ बांट सकेंगे।

5. फोटो - 24

खीरगांव निवासी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे फरहान अख्तर का कहना था कि निश्चित रूप से इस वर्ष का अनुभव बेहद निराशाजनक रहा मगर जहां तक पिकनिक दिवस की बात है तो हम सब इसे अवश्यक ही मनाएंगे। हां गाइडलाइन का पालन करते हुए वर्चुअल माध्यम से ही दोस्तों के साथ अपनी खुशियां बांटेंगे।

Edited By: Jagran