हजारीबाग, जेएनएन। मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने हजारीबाग के पुलिस अकादमी में एक सादे समारोह में सोमवार को 2504 दारोगा सौंपे। सीएम ने इन सभी नए दारोगा को उनके उज्‍जवल भविष्‍य की शुभकामनाएं दी। उन्‍होंने कहा कि सुशासन के लिए अपराध मुक्त झारखंड बनाना हमारी प्राथमिकता है। इनमें दारोगा का योगदान महत्‍वपूर्ण है। सीएम ने कहा कि पहले पुलिस पदाधिकारियों का प्रशिक्षण राज्य से बाहर कराया जाता था। इसकी जब हमें जानकारी मिली तब हमने राज्य के प्रशिक्षण संस्थानों हजारीबाग, नेतरहाट को समृद्ध बनाया।

सीएम ने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में अवर निरीक्षकों को प्रशिक्षण देना झारखंड पुलिस अकादमी के लिए भी चुनौती थी।  झारखंड पुलिस ने इसे सफलतापूर्वक पूरा किया है। आज झारखंड पुलिस के लिए गर्व का दिन है। कहा कि आज के दौर में साइबर क्राइम से निपटना सबसे बड़ी चुनौती बनी हुई है। अवर निरीक्षकों को इसके लिए विशेष रूप से तैयार किया गया है।

सीएम ने अवर निरीक्षकों  को संबोधित करते हुए कहा कि आपके ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी जा रही है। आज से आप एक नई जिंदगी की शुरुआत कर रहे हैं। आपके कंधे पर अपराध मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त और उग्रवाद मुक्त झारखंड बनाने की चुनौती है। मुझे पूरी उम्मीद है कि आप इस पर खरे उतरेंगे तथा समर्पण की भावना से राज्य की सेवा करेंगे।

पारण परेड में शामिल दारोगा के परिजन व अतिथि।

14 माह के प्रशिक्षण के बाद राज्य को आज 2504 दारोगा मिले हैं। इससे पहले झारखंड पुलिस अकादमी हजारीबाग में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कार्यक्रम की शुरुआत की। सीएम ने शुरुआत खुली जीप से परेड का निरीक्षण कर किया।  2504 में 210 महिला दारोगा ने प्रशिक्षण पूरा किया है। बताया गया है कि 2504 दारोगा में से 2012 झारखंड के, 419 बिहार के, 50 उत्‍तर प्रदेश के निवासी हैं।

पारण परेड में शामिल नए दारोगा।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस