हजारीबाग : बड़कागांव के ढेंगा गोलीकांड में आरोप तय करने के लिए पूर्व मंत्री योगेंद्र साव व विधायक निर्मला देवी की वाट्सएप पर पेशी के मामले में झारखंड हाई कोर्ट के जवाब-तलब के बाद एडीजे 14 ने जवाब भेज दिया है। सुप्रीम कोर्ट की टिप्प्णी के बाद हाई कोर्ट को भेजा गया जवाब पूरी तरह गोपनीय रखा गया है। एडीजे 14 अमित शेखर की कोर्ट है। उन्होंने 19 अप्रैल को आरोप चार्ज के दौरान वीडियो कांफ्रेंसिंग की तकनीकी खराबी के कारण वाट्सएप के जरिए सुनवाई की थी। उन्होंने अपनी सुनवाई को ऑन रिकार्ड लेते हुए इसे लिखा है।

क्या है पूरा मामला

मामले के अभियुक्त पूर्व मंत्री योगेंद्र साव व विधायक निर्मला देवी ने वाट्स एप से सुनवाई पर असंतोष जाहिर करते हुए भोपाल कोर्ट और बाद में हजारीबाग कोर्ट में आपत्ति दर्ज कराई थी। इसके बाद इसी मसले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी की थी।

Posted By: Jagran