संसू, इचाक: अपनी सौतेली मां (रजनी देवी) की प्रताड़ना से तंग आठ वर्षीय बालक न्याय की गुहार लगाने मंगलवार को इचाक थाना पहुंचा। मामला सांसद आदर्श ग्राम परासी का है। भुक्तभोगी बालक सूरज कुमार (पिता स्व संजय राम) ने थाना को एक आवेदन सौंपा है। इसमें कहा है कि 6 साल पहले उसकी अपनी मां गीता देवी की मौत बीमारी के कारण हो गई। उसके बाद पिता ने दूसरी शादी रजनी देवी से कर ली। शादी के एक साल बाद पिता की भी मौत बीमारी से हो गई। इसके बाद सौतेली माँ द्वारा उसे और उसके भाई विष्णु को प्रताड़ित किया जाने लगा। इसके बाद दोनों भाई को बरही के अनाथ आश्रम में रख दिया। आश्रम के नियमानुसार समय पूरा होते ही मुझे घर भेज दिया गया। जब मैं घर पहुंचा तो सौतेली मां मुझे देखते ही आग बबुला हो गई। कहने लगी कि घर में घुसा तो हाथ पैर तोड़ कर रख देंगे। जब मैं घर में प्रवेश का कोशिश करने लगा तो जान मार कर फेंक देने की धमकी देने लगी। मैं इससे डरकर न्याय के लिए इचाक थाना पहुंचा। बालक सूरज ने यह भी आरोप लगाया कि उसके पिता के नाम एलआईसी का बीमा था। जिसका क्लेम का भुगतान हो गया और मेरी मां ने सारा रकम हड़प लिया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस