जासं, हजारीबाग : प्रवासी कामगारों को अपने पंचायतों में ही रोजगार के साधन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से केंद्र सरकार के द्वारा प्रायोजित गरीब कल्याण रोजगार अभियान जिसमें देशभर के 116 जिलों का चयन किया गया उसमें झारखंड के तीन जिले शामिल हैं। इनमें गिरिडीह और गोड्डा के साथ प्रमंलीय मुख्यालय हजारीबाग को भी शामिल किया गया है। इन जिलों से ही सर्वाधिक श्रमिकों पलायन होता है। देश के 6 राज्यों के 116 जिलों में 50,000 करोड़ लागत वाली गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत प्रसारण देखा गया। गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना से ग्रामीण प्रकृति के 25 प्रकार के रोजगार परक काम का सृजन कर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। ग्रामीण श्रमिकों के लिए इस रोजगार अभियान के तहत 125 दिन अर्थात लगभग 4 महीने का रोजगार मुहैया कराया जाएगा। साथ ही इस अभियान से न्यूनतम 25 हजार श्रमिकों को जोड़े जाने का प्रावधान है। जहां तक वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण काल की बात है तो प्रमंडलीय मुख्यालय हजारीबाग में इस काल में करीब 62 हजार प्रवासी कामगारों की महानगरों से वापसी हुई है। इसके अलावा काफी कामगार अपने साधन से भी हजारीबाग लौटे हैं। इन प्रवासी कामगारों को मनरेगा सहित अन्य योजनाओं में रोजगार उपलब्ध कराना है। योजना के तहत सामुदायिक स्वच्छता, ग्राम पंचायत भवन, वित्त निगम कोष के तहत आने वाले काम के अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण, कुएं बनाने, आप्टिकल फाइबर केबल बिछाने का काम आदि कराया जाएगा।

------------

उपायुक्त सहित अन्य अधिकारियों ने सुना पीएम का संदेश

फोटो - 8 - नगर भवन में मौजूद उपायुक्त डा. भुवनेश प्रताप सिंह व अन्य

फोटो - 9 - नगर भवन में स्क्रीन पर पीएम का संबोधन : गरीब कल्याण रोजगार अभियान का ऑनलाइन शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा किया गया है। जिला मुख्यालय के नगर भवन में ऑनलाइन शुभारंभ का जीवंत प्रसारण के मौके पर उपायुक्त डॉ. भुवनेश प्रताप सिंह के अलाव जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे। गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत झारखंड के चयनित तीन जिलों में हजारीबाग को शामिल किया गया है। देशभर के चयनित 116 वैसे जिलों का चयन किया गया है, जहां से श्रमिकों का सर्वाधिक पलायन होता है। गरीब कल्याण रोजगार अभियान योजना से ग्रामीण प्रकृति के 25 प्रकार के रोजगार परक काम का सृजन कर प्रवासी श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। ग्रामीण श्रमिकों के लिए इस रोजगार अभियान के तहत 125 दिन अर्थात लगभग 4 महीने का रोजगार मुहैया कराया जाएगा। साथ ही इस अभियान से न्यूनतम 25 हजार श्रमिकों को जोड़े जाने का प्रावधान है।

--------------

अभियान का बरही में भी देखा गया सीधा प्रसारण

संसू, बरही (हजारीबाग) : गरीब कल्याण रोजगार अभियान का सीधा प्रसारण शनिवार को प्रखंड मुख्यालय परिसर स्थित बरही पूर्वी पंचायत भवन के सभागार समेत विभिन्न पंचायतों के सभागार में भी किया गया। प्रखंड मुख्यालय में सीधा प्रसारण करवाने में बीडीओ अरुणा कुमारी ने अहम योगदान दिया। जानकारी देते हुए बरही बीडीओ अरुणा कुमारी ने बताया कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान घर वापसी किए प्रवासी मजदूरों को सहायता प्रदान करना है, उन्हें रोजगार देना है। उन्होंने बताया कि बरही प्रखंड में अबतक करीब साढ़े पांच हजार प्रवासी बंधु वापस लौटे हैं, जिनमें करीब साढे 3000 प्रवासी मजदूर शामिल है। प्रवासी बंधुओं का आगमन जारी है। सभी प्रवासी मजदूरों को मनरेगा जैसे योजनाओं से जोड़ते हुए रोजगार उपलब्ध कराना लक्ष्य ह

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस