हजारीबाग : मुफ्फसिल थाना पुलिस ने 31 जनवरी की रात लाखे में विसर्जन जुलूस में हंगामा और पत्थरबाजी मामले में रविवार को एक युवक मो. परवेज उर्फ आतिफ (पिता मो. मोबारक हुसैन) को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार कर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया है। विसर्जन जुलूस को लेकर हुए हंगामे के बाद दो प्राथमिकी दर्ज की गई है। इनमें कुल 22 लोगों को नामजद तथा 50 अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। गिरफ्तार युवक को प्रत्यक्षदर्शियों ने पत्थरबाजी में पहचान की थी। फुटेज के आधार पर युवक को गिरफ्तार किया गया। पुलिस अब दोनो पक्षों के 21 लोगों को भी तलाश शुरु कर दी है। थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर मनोज कुमार सिंह ने बताया कि पूरे मामले में एक भी आरोपी नहीं बचेंगे। पुलिस सख्ती से निपटने का कार्य कर रही है। सामाजिक विद्वेश फैलाकर इन लोगों ने सामाजिक ताना बाना को बिगाड़ने का काम किया है। ज्ञात हो कि 31 की रात सूंडी मोहल्ला स्थित लाखे के अमानत चौक पर जुलूस पर पथराव हुआ था। इसके बाद हंगामा हो गया था जिसमें चार लोग घायल हुए थे। इस मामले में दोनो ओर से प्राथमिकी दर्ज करायी गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस