जागरण न्यूज नेटवर्क, हजारीबाग। झारखंड में तमाम सावधानियों के बावजूद रामनवमी जुलूस व झांकियों के दौरान बड़ी संख्या में लोग घायल हो गए। हजारीबाग में तो सोमवार शाम से मंगलवार शाम तक हुई तलवारबाजी में एक युवक की मौत हो गई, जबकि 605 लोग घायल हो गए। इनमें आठ को गंभीर स्थिति में बेहतर इलाज के लिए रिम्स (राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल सांइस, रांची) रेफर किया गया है। मृत युवक की पहचान सुनील राम के रूप में हुई है। वह डीआइजी आवास में सफाई मित्र था। वहीं चतरा के सिमरिया प्रखंड मुख्यालय में सोमवार की रात झांकी के दौरान एक वाहन भीड़ में घुस गया। इससे एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि दो महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गईं। घायल महिलाओं को बेहतर इलाज के लिए रिम्स भेजा गया है।

हजारीबाग में सोमवार की शाम जुलूस प्रांरभ हुआ, उसके साथ ही विभिन्न अखाड़ों के रामभक्त अस्त्र-शस्त्र परिचालन कौशल का प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान कई लोग घायल हुए, जिन्हें तुरंत सदर अस्पताल ले जाया गया। सदर अस्पताल में देर रात तक घायलों के पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। इसके अलावा शहर में विभिन्न जगहों पर बनाए गए मेडिकल कैंपों में भी घायलों का इलाज हुआ।

उधर चतरा में झांकी के दौरान एक वाहन भीड़ में घुस गया। इससे एक व्यक्ति की मौत हो गई। उसकी पहचान रामजतन साहू के रूप में की गई है। मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए चतरा सदर अस्पताल भेजा गया है। बताया गया कि सिमरिया चौक पर झांकियों का प्रदर्शन चल रहा था। इसमें कर्मवीर क्लब गोवा की झांकी भी शामिल थी। रामनवमी महासमिति के समय निर्धारण के अनुसार गोवा क्लब की झांकी को रात 10:00 बजे सिमरिया चौक पर प्रदर्शित करना था। भारी भीड़ के साथ गोवा क्लब की झांकी गांव से निकलकर सिमरिया चौक की ओर बढ़ रही थी। बन्हे स्कूल के पास झांकी का साउंड सिस्टम लदा वाहन अनियंत्रित होकर उछल गया और भीड़ को रौंद डाला।

By Sachin Mishra