संस, हजारीबाग : वैश्विक महामारी का रूप ले चुका कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर जिला के मेडिकल कॉलेज अस्पताल सहित विभिन्न सरकारी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर अब तक कुल 11766 लोगों की प्राथमिक जांच कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर की गई है। जांच के बाद कुल 6449 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया। यानी अपने घरों में ही अगले 14 दिनों तक रहने की हिदायत डॉक्टरों के द्वारा दी गई है। इस बीच हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में कोरोना वायरस के सात संदिग्ध मरीजों को भर्ती किया गया है। साथ ही इन संदिग्ध मरीजों में कोरोना संक्रमण की जांच के लिए तीन संदिग्ध के स्वाब जांच के लिए सैम्पल रांची रिम्स भेजा गया है।

:::::::

10 सीएचसी व 13 पीएचसी में भी हो रही जांच :

जिला में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देश के विभिन्न महानगरों से वापस घर लौटे लोगों की जांच स्वास्थ्य विभाग के द्वारा युद्ध स्तर पर की जा रही है। इसके लिए हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल सहित जिला के सभी 10 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों व 13 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर बाहर से आए लोगों की जांच डॉक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा की जा रही है। जानकारी के मुताबिक अब तक जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 11766 लोगों की जांच की गई है। जांच के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण से आम लोगों के बचाव व रोकथाम के लिए अब तक कुल 6449 लोगों को डॉक्टरों ने होमकोरंटाइन में रहने की सलाह दी है। साथ ही ऐसे सभी लोगों के हाथों पर होम कोरेंटिन में रहने का मुहर भी स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा लगाया जा रहा है ताकि यदि यह व्यक्ति अपने घरों में रहने के बजाय बाहर घूमते हैं तो इसकी सूचना प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग को आम लोगों के द्वारा दी जा सके।

::::::::::::

आइसोलेशन वार्ड में रखे गए संदिग्ध मरीज

कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर कुछ संदिग्ध मरीजों को हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। साथ ही इन मरीजों में तीन की जांच के लिए सैम्पल रिम्स रांची भेजा गया है। वही हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में बनाए गए कोरेंटिन सेंटर में अब तक कुल 63 लोगों को भर्ती कराया गया है। हालांकि जिला वासियों के लिए राहत की यह बात है कि अब तक जिला में कोई भी करोना पॉजिटिव मरीज नहीं मिला है। जिला प्रशासन एवं जिला स्वास्थ विभाग के सभी पदाधिकारी डॉक्टर्स कर्मी कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ी जाने वाली जंग में पूरे जी-जान से जुटे हुए हैं वही हजारीबाग मेडिकल कॉलेज अस्पताल के परिसर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में संक्रमित मरीजों के समुचित इलाज के लिए कई प्रकार के अत्याधुनिक मशीनों का भी अधिष्ठापन किया जा चुका है

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस