संवाद सूत्र,गुमला : गुमला के गोकुल नगर में मंगलवार को दिन दहाड़े बाल मजदूर मुक्ति संस्थान के आफिस में घुस कर मिथिलेश साहू की गोली मारने के बाद गला रेतकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। जिस सीसीटीवी फुटेज के बदौलत पुलिस ने जांच शुरू की थी। वह सीसीटीवी में मोटरसाइकिल का नंबर तक दिखाई नहीं पड़ रहा है। सीसीटीवी के जूमिग सिस्टम काफी खराब स्थिति में है। जूम करने के बाद भी मोटरसाइकिल का नंबर साफ दिखाई नहीं पड़ रहा है। ऐसे में पुलिस को मोटरसाइकिल के मालिक तक पहुंचने में परेशानी हो रही है। हालांकि हत्या के 36 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस मामले का खुलासा नहीं कर कर पाई है। मृतक मिथलेश साहू के भाई अविनाश कुमार उर्फ अखिलेश कुमार साहू ने जैरागी निवासी प्रवीण साहू, शुभम साहू सहित अन्य लोगों के खिलाफ मिथलेश की हत्या करने के आरोप लगाता हुए गुमला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी के अनुसार मिथलेश साहू गोकुल नगर में बाल मजदूर मुक्ति संस्थान में मंगलवार को बैठा था। उसी आफिस में काम करने वाली रमनी बूढ़ उर्फ पूजा ने फोन कर सूचना दी कि उसके भाई की हत्या हो गई है। एसडीपीओ मनीष चन्द्र लाल ने बताया कि हत्याकांड मामले का जल्द ही खुलासा कर लिया जाएगा। घटना स्थल के आस पास के सीसीटीवी फुटेज निकालने का काम चल रहा है। वर्षा के कारण अनुसंधान प्रभावित हुआ है। सीसीटीवी फुटेज पर वाहन के नंबर भी दिखाई नहीं पड़ रहे हैं। फिर भी पुरानी रंजिश व अन्य बिदुओं पर जांच की जा रही है।

----

गोली कांड में पुलिस कार्रवाई करती तो बेटे की नहीं जाती जान

मृतक मिथिलेश कुमार साहू का पिता संजय कुमार साहू ने कहा है कि पिछले साल तीस जून को उसके ऊपर गोली चलायी गई थी। उस गोली कांड में प्रवीण एवं अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। इसके बावजूद पुलिस ने उनलोगों को गिरफ्तार नहीं किया। जिस कारण उनके बेटे की जान चली गई। कहा कि वर्ष 2013 में आंजन धाम विकास समिति के सचिव रामनगीना साहू का अपहरण कर हत्या की गई थी। उस आक्रोश में तीन प्रखंड के हिन्दू ने रामनगीना के अपहरण के दो आरोपी की सामूहिक हत्या की थी। उस मामले में गुमला जिला के जन प्रतिनिधि और काफी संख्या में स्थानीय लोग शामिल थे लेकिन तत्कालीन पुलिस पदाधिकारी ने उन लोगों को ही झूठा केस में फंसा दिया था और हत्या के आरोप में जेल भेज दिया था। राम नगीना अपहरण व हत्या कांड के अपराधी की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई।

डुमरी प्रखंड स्थित मृतक मिथिलेश साहू को उसके पैतृक मकान जैरागी लाया गया जहां के जुरमू नदी के घाट पर परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार किया । मृतक के परिजनों ने इस हत्याकांड में संलिप्त हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़कर सजा दिलाने की प्रशासन से गुहार लगाई।

कोट

मिथिलेश साहू हत्याकांड मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। इस घटना में संलिप्त लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है। जल्द ही इस हत्याकांड की गुत्थी पुलिस सुलझा लेगी। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

-ऐहतेशाम वकारिब, एसपी गुमला

Edited By: Jagran