संवाद सूत्र, भरनो : प्रखंड के तुरियंबा पंचायत के मसिया महुआटोली गांव में सरना धर्म छोड़कर ईसाई धर्म अपनाने वाले पांच परिवारों की बुधवार को घर वापसी हुई। हिदु जागरण मंच आदिवासी सरना विकास समिति और झारखंड जनजातीय सुरक्षा मंच के संयुक्त तत्वाधान में पैर धोकर नया अंग वस्त्र देकर और देवी मंडप में पूजा कराकर पांच परिवारों के 25 सदस्यों को सरना धर्म में वापस लाया गया। मसिया गांव के देवी मंडप में पहान पुजार द्वारा विधिवत शुद्धिकरण संस्कार कराया गया। घर वापसी करने वालों में पहना मुंडा, सुकरा मुंडा, हाना मुंडा, मंगरा मुंडा और चमरु मुंडा के परिवार के सदस्य शामिल हैं। धर्म में वापसी करने वाले परिवार के सदस्यों ने धर्म परिवर्तन करने का कारण बताते हुए कहा कि उनके परिवारों में मिरगी, यक्ष्मा, गठिया आदि बीमारियों से आक्रांत लोग हैं। दस वर्षो से इन बीमारियों से लोग परेशान हैं। बीमारी ठीक नहीं होने के दौरान मसिया महुआटोली गांव में चर्च के पादरियों का आना-जाना होता था। उन लोगों ने बीमारी ठीक करने का भरोसा दिलाया था। कई तरह के प्रलोभन भी दिए थे। बहला फुसलाकर उनलोगों का धर्म परिवर्तन कराया गया था। छह माह से ये लोग सरना धर्म छोड़कर इसाई धर्म मानने लगे थे। वे लोग चंगाई सभा में भी जाने लगे थे। उन्हें बताया गया था कि चंगाई सभा में जाने से बीमारी अपने आप दूर हो जाती है। इसकी जानकारी हिदू जागरण मंच को हुई । मंच के लोगों ने धर्म परिवर्तन करने वाले परिवारों से संपर्क करना आरंभ किया। उन्हें सरना धर्म में वापस लाने के लिए मनाना आरंभ किया।बुधवार को हिदू जागरण मंच के वाणी कुमार राय , किशोर साहु, जगरनाथ उरांव, राहुल केसरी आदिवासी सरना समिति के अध्यक्ष मेघा उरांव, जनजातीय सुरक्षा मंच के संयोजक संदीप उरांव , मुखिया मनी देवी, सामाजिक कार्यकर्ता संतोष पंडा, महावीर पंडा, मनोज वर्मा, विनय पंडा, ग्रामीण प्रधान तेलंगा मुंडा, पहान गंगु मुंडा, साधवा मुंडा की उपस्थिति में धर्म परिवर्तन किए सभी दस परिवारों को घर वापसी कराने के लिए मनाया गया। पांच परिवार वापसी के लिए तैयार हुए। पांच परिवार घर वापसी को तैयार नहीं हुए। इस धर्म वापसी कार्यक्रम में लोगों ने विधिवत पूजा अर्चना भी की और अपने पुराने धर्म को मानने का संकल्प लिया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप