संवाद सहयोगी,गुमला: पालकोट के खटगांव में 17 दिसंबर 2017 को हुई तीहरे हत्याकांड का अनुसंधान अपराध अनुसंधान विभाग द्वारा किया जाएगा। एसपी ह्रदीप पी जर्नादनन ने अपराध अनुसंधान विभाग को केस ट्रांसफर कर दिया है। इस केस में अहम बात यह है कि अप्राथमिकी अभियुक्त कांग्रेस के पूर्व विधायक नियेल तिर्की की गिरफ्तारी अब तक नहीं हुई है। गिरफ्तारी की कार्रवाई करने हेतु यह केस लंबित चला आ रहा है। अपराध अनुसंधान विभाग को लिखे पत्र में एसपी ने इस बात का उल्लेख किया है। इस केस में कुल 56 ग्रामीणों के विरुद्ध नामजद और 50 अज्ञात के विरुद्ध हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई थी। लंबे समय तक पुलिस द्वारा अनुसंधान के बाद इस केस को अपराध अनुसंधान विभाग को सौंपा गया है।

क्या था मामला

पालकोट की एक नाबालिक का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया था। इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपी को सोमरा लोहरा का पुत्र नंदलाल केरकेट्टा को पकड़ थाना ले आई थी। मौका पाकर आरोपी नंदलाल थाना कैंपस स्थित कुआं में कूदकर जान दे दिया। इस घटना के बाद खटगांव में ग्रामीणों की गुप्त तरीके से बैठक हुई थी। इसके बाद 17 दिसंबर 2017 खलिहान में धान मिसाई कर रहे टहलू राम, पत्नी लखपति देवी और पुत्री रुनि कुमारी की हत्या लाठी डंडे से पीटकर कर गंभीर रुप से घायल कर दिया गया। इसके बाद तीनों घायल के शरीर पर चढ़कर कूदा गया। । मृतक टहलू की बेटी जब खलिहान पहुंची तो देखा कि सभी बेहोश पड़ें। जब पानी पिलाने का प्रयास कि तो ग्रामीणों ने पानी पिलाने से मना कर दिया। इस घटना के बाद मुख्य आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। लेकिन गांव में पूर्व विधायक व अन्य नेताओं का आवागमन जारी रहा। पुलिस को कई दिनों तक गांव में कैंप करना पड़ा था।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप