गुमला : गुमला और आस-पास के क्षेत्रों में बुधवार को श्रद्धा भक्ति आस्था और विश्वास के साथ महिलाओं ने तीज व्रत किया। सुहागिनों े दिन भर उपवास रखकर और अपराह्न बाद मंदिरों एवं घरों में भगवान शिव की अराधना उपासना की ।और पति के सुख शांति समृद्धि और लंबी जीवन के लिए कामना की। गुमला के पालकोट रोड स्थित श्री राधा कृष्ण मंदिर में सुहागिनों ने धूप दीप नैवेद्य के साथ भगवान शिव की पूजा की। श्री राधाकृष्ण मंदिर में आचार्य कमलेश मिश्रा ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ सुहागिनों को भगवान शिव की पूजा कराए और तीज हरितालिका व्रत की कथा का श्रवण कराया। उन्होंने कहा है कि देवी सती ने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए बालू का शिव¨लग बनाकर अराधना व तपस्या की थी और उसकी मनमोकाना पूर्ण हुई थी। इसी आस्था और विश्वास को लेकर सुहागीनों ने भाद्र मास की तृतीया तिथि को पूर्ण पवित्रता के साथ दिन भर निर्जला उपवास रखती है और शाम में दुल्हन की तरह श्रृंगार कर हर्षोल्लास और उमंग के साथ भगवान शिव की पूजा करते हैं। शक्ति मंदिर में पुरोहित हरिशंकर मिश्रा ने पूजा-अर्चना कराते हुए तीज व्रत की कथा सुनाई।

Posted By: Jagran