जागरण संवाददाता,गुमला: दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के क्षेत्रीय शिक्षोपनिदेशक मिथिलेश कुमार सिन्हा ने गुमला जिला शिक्षा कार्यालय के तत्कालीन भ्रष्टाचार के आरोपी लिपिक राकेश कुमार गुप्ता को तत्काल प्रभाव से सेवा से बर्खास्त कर दिया है। इस संबंध में क्षेत्रीय शिक्षोपनिदेशक ने गुमला के जिला शिक्षा अधीक्षक को इस फैसले की जानकारी अपने आदेश पत्र से दिया है। निगरानी विभाग की टीम ने सुरहु गांव के घुड़ा नाग से रिश्वत लेते हुए राकेश कुमार को छह मार्च 2003 को रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया था। जमानत मिलने पर उनके द्वारा दिए गए आवेदन के आधार पर उनका निलंबन समाप्त किया गया था। निलंबन समाप्ति के बाद वे कई कार्यालय में पदस्थापित रहे। निगरानी न्यायालय ने उन्हें दो वर्ष की सजा, दस हजार रुपये की जुर्माना भी लगाया था। क्षेत्रीय शिक्षोपनिदेशक कार्यालय से उन्हें पत्र देकर अपना पक्ष रखने के लिए मौका दिया गया था। उनके अनुरोध पर कई बार उन्हें पक्ष रखने का मौका दिया गया। राकेश कुमार को झारखंड सरकारी सेवक नियमावली 2016 के आलोक में तात्कालिक प्रभाव से सेवा से बर्खास्त कर दिया गया।

Edited By: Jagran