जारी : जारी प्रखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में इन दिनों जंगली हाथियों का तांडव मचा है। जिस कारण गांव के लोग दहशत में हैं। पिछली रात प्रखंड के बितरी, जारी कोकेटोली आदि गांवों के पांच घरों को जंगली हाथियों ने ध्वस्त कर दिया। लगभग 5-6 ¨क्वटल धान को चट कर गया। ध्वस्त घरों में जारी ग्राम स्थित श्रीनगर लैंपस का पक्का भवन भी शामिल है। जानकारी के अनुसार दो जंगली हाथी छत्तीसगढ़ के सरडीह ग्राम होते हुए लगभग साढ़े ग्यारह बजे बितरी गांव पहुंचा।जहां रोपना अहीर के घर को ध्वस्त कर दिया। घर में सोए हुए रोपना अहीर की बहन और उसके दो बच्चे बाल बाल बचे गए। समय पर उठने में थोड़ी भी देर होती तो दोनों दबकर मर जाते। रोपना अहीर के घर को ध्वस्त होने से दो बड़े बड़े बक्सा, डेगची, कड़ाही ,बर्तन और अन्य सामान दब कर बर्बाद हो गए । ग्रामीणों द्वारा काफी मशक्कत के बाद हाथी को जारी गांव की ओर खदेड़ने में सफल हुए। जारी गांव पहुंचकर जंगली हाथियों ने सबसे पहले यूजीन टोपो के घर को ध्वस्त किया। वहीं नजदीक में स्थित विधवा भलेरिया एक्का के घर को पुन: ध्वस्त करते हुए 2 बोरा धान निकाल कर खा गया। ग्रामीणों के द्वारा हल्ला मचाने के बाद हाथी तुलसी भगत के तार के घेरा को रौंदते हुए जारी ग्राम स्थित श्रीनगर लैंपस पहुंचा। जहां पक्का भवन को ध्वस्त कर दो से 3 ¨क्वटल धान खा गया और जमीन पर बिखरा दिया । लगभग आधा घंटा लैंपस के पास उत्पात मचाने के बाद व ग्रामीणों द्वारा खदेड़ने पर हाथी कोकेटोली गांव पहुंचा । जहां जॉर्ज बेक व मोजेस्ता बेक के बागान में लगे सब्जियों को रौंदते हुए जॉर्ज बेक घर पहुंचा और उसके घर को ध्वस्त कर लगभग 1 ¨क्वटल धान को निकाल कर खा गया। कोकेटोली में लगभग एक घंटा कोहराम मचाने के बाद हाथी सीसी करम टोली ग्राम होते हुए जरडा डांट टोली जंगल की ओर चली गई ।वहीं पीड़ित ग्रामीणों ने प्रशासन से आर्थिक मुआवजे की मांग की है। मौके पर बीडीओ प्रवीण केरकेट्टा व वन विभाग के सदस्य आलम कच्छप व सेबेस्टियन बड़ा ने घटनास्थल पर जाकर ध्वस्त घरों का मुआयना किया व हरसंभव वन विभाग की ओर से पीड़ित लाभुकों को सहयोग करने की बात कही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस