मेहरमा: प्रखंड अंतर्गत सुरनी गांव के मुस्लिम टोला में पक्की सड़क नहीं रहने के कारण ग्रामीणों को आवागमन में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इस संबंध में ग्रामीण शेख मुस्तफा,शेख मन्नान, शेख शरीफ, जाकिर, सुल्तान मनसूर, शेख जब्बार आदि ने बताया कि शेख हकीम के घर से मोइन मनसूर के घर तक करीब हजार फिट पर बीते करीब 15 वर्ष पूर्व जवाहर रोजगार गारंटी योजना के तहत ईंट सोलिग हुआ था। इसके बाद इस पर कोई काम नहीं हुआ। इन दिनों ईंट सोलिग मार्ग काफी जर्जर व जानलेवा हो गया है।कई जगह ईंट उखड़ गया है। पथरीली सड़क पर आवागमन में ग्रामीणों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। बरसात के दिनों में पूरा सड़क नाला में तब्दील होकर रह जाता है। सबसे अधिक परेशानी स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्र जाने वाले बच्चों को उठानी पड़ती है। उबड़ खाबड़ सड़क के कारण गांव तक ममता वाहन भी नहीं पहुंच पाती है। इस कारण गर्भवती महिलाओं को खाट पर टांग कर मुख्य सड़क तक लाना पड़ता है। बरसात के दिनों में यह टोला नरक में तब्दील होकर रह जाता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस