जागरण संवाददाता : गोड्डा जिले के दो सेंटर में शनिवार को स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोविड वैक्सीनेशन की शुरूआत की गई। पहले दिन फ्रंटलाइन के140 कर्मियों को वैक्सीन की पहली खुराक दी गई। वैक्सीन लेने वाले पहले कर्मी सिकटिया कोविड सेंटर के सफाई कर्मी मनोज कुमार लाहा थे। उन्हें प्रशिक्षित एएनएम मुन्नी कुमारी ने वैक्सीन की सुई लगाई। इसके बाद ऑनलाइन पंजीकरण के अनुसार स्वास्थ्य कर्मियों और सफाई कर्मियों को बारी-बारी से टीका लगाया गया। इसमें सिविल सर्जन डॉ. एसपी मिश्रा, डीएस डॉ. पीके सिन्हा, महिला चिकित्सक डॉ. प्रभा रानी प्रसाद, डॉ. निशांत मिश्रा, जिला महामारी रोग नियंत्रण प्रभारी डॉ. उज्ज्वल कुमार सिन्हा, कोविड सेंटर के प्रभारी डॉ. तारा शंकर झा, डॉ. पीएन तरवे आदि शामिल थे। टीकाकरण के लिए दोनों सेंटरों में क्रमश: छह-छह प्रशिक्षित एएनएम और सीएचओ (कम्यूनिटी हेल्थ ऑफिसर) को सेवा में लगाया गया था। स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार देर शाम जारी बुलेटिन में कहा गया है कि गोड्डा के सिकटिया में 60 और महागामा प्रखंड मुख्यालय में 80 कर्मियों का कोविड वैक्सीनेशन सफलता पूर्वक किया गया। टीकाकरण के बाद कर्मियों को आधे घंटे तक ऑब्जर्वेशन रूम में रखा गया था। किसी भी कर्मियों में कोई प्रतिकूल असर नहीं दिखा है। जिले में पहले चरण में फ्रंटलाइन के 2950 कर्मियों का टीकाकरण किया जाना है। यह अगले पंद्रह दिनों तक चलेगा। यहां कुल 5389 कर्मियों को टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है।

इससे पहले सदर प्रखंड के सिकटिया कोविड सेंटर में सिविल सर्जन डॉ. मिश्रा और सदर एसडीओ ऋतुराज ने कोविड वैक्सिनेशन शिविर का उद्घाटन किया। स्वास्थ्य विभाग की ओर से फ्रंटलाइन कर्मियों को वैक्सीन देने के लिए यहां व्यापक तैयारी की गई थी। पहले दिन यहां 100 कर्मियों का टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन पहले दिन 60 कर्मियों को ही टीका दिया जा सका। अब आगामी सोमवार को टीकाकरण किया जाएगा। पीएम मोदी के भाषण के साथ शुरू हुआ टीकाकरण :

संवाद सहयोगी, महागामा : प्रखंड परिसर में शनिवार को कोविड टीकाकरण केंद्र का उद्घाटन महागामा एसडीओ जितेंद्र कुमार देव, एसडीपीओ केके सिंह एवं आरसीएचओ डॉ. मंटू टेकरीवाल ने संयुक्त रूप से किया। उद्घाटन के पूर्व सभी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को सुने। इस लम्हे को सभी की उपस्थिति में बड़ी स्क्रीन पर देखा गया कि प्रथम वैक्सीन जो भारत में पहली बार किसी को दिया जा रहा है, उस क्षण को सभी ने एक त्योहार की तरह मनाया एवं ताली बजाकर उसका स्वागत किया। इसके उपरांत स्वास्थ्य कर्मी एवं सफाई कर्मी की तैयार सूची का सत्यापन किया गया। प्रथम टीकाकरण स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर एम नूर उल हक जो महागामा अस्पताल में मेडिकल ऑफिसर के पद पर हैं, उन्हें टीका लगाया गया। साथ ही साथ उनके साथ और भी दस लोगों को एक साथ टीकाकरण किया गया। प्रथम में टीकाकरण लगने के उपरांत डॉक्टर नूर उल हक से वार्ता करने पर उन्होंने कहा कि टीकाकरण होने के बाद उन्हें किसी भी तरह का कोई भी शरीर में किसी भी तरह का कोई भी साइड इफेक्ट नहीं हुआ। साथ ही साथ टीकाकरण के बाद उन्हें भी आधे घंटे तक ऑब्जरवेशन में रखा गया, ताकि किसी तरह की भी कोई भी बात हो तो उन्हें ध्यान में रखा जाएगा। साथी एएनएम बंदना कुमारी को भी टीका लगाया गया, जिन्होंने अपना अनुभव बताया कि उन्हें भी कोई भी तरह की दिक्कत नहीं आई। साथ ही सभी 10 लोगों को बारी-बारी से टीकाकरण करते हुए उन्हें आधे घंटे तक ऑब्जर्वेशन में रखा गया। वहीं बताया गया कि पुन: 28 दिन के बाद दोबारा टीकाकरण इन लोगों को दिया जाएगा। एसडीओ जितेंद्र कुमार देव ने कहा कि अभी महागामा में कुल 228 लोगों की लिस्ट तैयार की गई है जिनमें सफाई कर्मी व स्वास्थ्य कर्मी है। मौके पर महागामा के सभी स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021