जागरण संवाददाता, गोड्डा : उपायुक्त किरण कुमारी पासी ने मंगलवार को समाहरणालय परिसर से स्वयंसेवी संस्था साथी एवं पीएचएफ के संयुक्त तत्वावधान में प्रमंडल स्तरीय कुपोषण मुक्ति रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उपायुक्त ने कहा कि यह रथ सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों के लिए काफी सार्थक साबित होगा। सरकार का लक्ष्य कुपोषण मुक्त झारखंड का निर्माण है। ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को पोषण के प्रति जागरूक किया जाएगा तथा कुपोषण के दुष्प्रभाव के बारे में बताया जाएगा। रथ के माध्यम से स्थानीय स्तर पर पारंपरिक कृषि उत्पादों का प्रबंधन कर कैसे कुपोषण को दूर किया जा सकता है उसके बारे में लोगों को जागरूक करेंगे। कहा कि जागरूकता से ही कुपोषण दूर होगा। डॉ. नीरज कुमार एवं परियोजना समन्वयक सर्वरी मुखर्जी ने कहा कि यह रथ गोड्डा से सुंदरपहाड़ी, पथरगामा, महागामा, बोआरीजोर, साहिबगंज के बोरियो, बरहेट, पाकुड़ के हिरणपुर, लिट्टीपाड़ा, दुमका के गोपीकांदर, काठीकुंड, रामगढ़, जामा, देवघर के पालाजोरी, जामताड़ा के फतेहपुर, कुंडहित से होकर दुमका पहुंचेगा। संताल परगना की तीस पंचायत के लगभग 150 गांव में बैठक कर स्वयंसेवी संस्था माता समिति के सदस्यों को जागरूक करने का कार्य होगा। जितेन्द्र कुमार, कालेश्वर मंडल, धनंजय त्रिवेदी,

नरेंद्र कुमार, मनोज कुमार, सुधांशु शेखर, अश्विनी कुमार, रोशन कुमार थे।

Posted By: Jagran