गोड्डा : मानसून में हो रहे विलंब व कम वर्षा के कारण खरीफ की खेती प्रभावित हो रही है। आद्रा नक्षत्र शुरू हो चुका है लेकिन अबतक बिचड़ा भी नहीं गिर पा रहा है। इसके कारण किसान काफी मायूस हैं। अगर यही स्थिति बनी रही तो आनेवाले समय में किसानों को कठिनाई का सामना करना पड़ेगा। इसके साथ ही विभाग ने जो लक्ष्य तय किया है उसे पूरा करना मुश्किल हो जाएगा। कृषि विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में अबतक मात्र आठ फीसद ही बिचड़ा ही गिर पाया है। विभाग का मानना है कि बारिश की कमी के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है। दूसरी ओर कृषि विभाग द्वारा चालू खरीफ मौसम में करीब 51,500 हजार हेक्टेयर भूमि पर धान की बुआई का लक्ष्य रखा गया है जो पिछले वर्ष कि तुलना में लगभग आठ हजार हेक्टेयर अधिक है। इधर, रविवार की शाम हुई बारिश से किसानों की उम्मीद जगी है। जलग्रहण क्षेत्र में भी आंशिक रूप से पानी आया है। जिला कृषि पदाधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि मानसून में हो रहे विलंब के कारण बिचड़ा गिराने के कार्य में तेजी नहीं आ पाई है। हालांकि एक दो दिनों से मौसम में बदलाव दिख रहा है जिससे आनेवाले समय में कृषि कार्य में तेजी आने की संभावना है। बताया कि एक पखवारे में 75 प्रतिशत बिचड़ा गिर जाने की उम्मीद है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप