संवाद सहयोगी, बसंतराय : कब्रिस्तान घेराबंदी में अनिमियता को लेकर ग्रामीणों ने उपायुक्त को आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है। प्रखंड की केवा पंचायत अंतर्गत परसिया में कल्याण विभाग के द्वारा कब्रिस्तान घेराबंदी की योजना ली गई है। इसी के तहत ग्राम सभा के माध्यम से लाभुक समिति का चयन किया जाना था। लेकिन बसंतराय बीडीओ और पंचायत की मुखिया की मिलीभगत से गुपचुप तरीके से लाभुक समिति का चयन कर लिया गया। इस बात से ग्रामीण अनजान थे लेकिन बीते दिनों जब गोड्डा विधायक अमित मंडल ने योजना की आधारशिला रखी तब मालूम हुआ कि गांव में बगैर किसी को सूचना दिए ही लाभुक समिति का गठन कर लिया गया है। फिर पूरे गांव में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। आवेदनकर्ता उपमुखिया मो मुबारक, मो कलीम, तौहीद, रज्जाक अंसारी आदि का कहना है कि इसके पूर्व भी कब्रिस्तान घेराबंदी में गलत तरीके से लाभुक चयन किया गया था। ग्रामीणों ने उपायुक्त से फर्जी तरीके से की गई आम सभा को निरस्त करते हुए नई आम सभा की तिथि तय करते हुए प्रसार प्रचार करते हुए लाभुक समिति के गठन की मांग की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप