गावां/सरिया : विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के अवसर पर गावां एवं सरिया में कार्यक्रम कर लोगों को जागरूक किया गया। गावां में बाल पंचायत के बच्चों एवं समूह के लोगों ने शनिवार को डोर टू डोर दस्तखत अभियान चलाकर लोगों को बाल श्रम के खिलाफ एकजुट रहने को प्रेरित किया। महुबरी सलाहकार समिति के अध्यक्ष मथुरा प्रसाद यादव एवं बाल पंचायत की सदस्य सपना कुमारी ने कहा कि हम लोग बाल मित्र ग्राम के माध्यम से बाल श्रम मुक्त समाज बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। सहायक परियोजना पदाधिकारी सुरेंद्र कुमार त्रिपाठी ने कहा कि कैलाश सत्यार्थी की दूरदृष्टि, इच्छाशक्ति लंबी लड़ाई और अथक प्रयास के बाद बाल केंद्रित सोच का माहौल पैदा हुआ है। मथुरा प्रसाद यादव, कृष्णा प्रसाद यादव, सरिता देवी, प्रीतम कुमारी, सुरेन्द्र कुमार त्रिपाठी, मो.आरिफ अंसारी, कृष्णा पासवान, वीरेंद्र यादव, विक्कू कुमार और सुरेन्द्र सिंह आदि का योगदान रहा।

सरिया : विश्व बाल श्रम निषेध दिवस पर विधिक सहायता केंद्र सरिया पूर्वी तथा नारी उत्थान मंच के संयुक्त तत्वावधान में शनिवार को जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान सरिया प्रखंड के कैलाटांड़, अंबाडीह, धोवारी, चंद्रमारणी के अभिभावकों से कहा गया कि बच्चे देश के भविष्य हैं। उनके अपने भी कुछ सपने होते हैं। उनका सपना तभी साकार हो सकता है जब वे अपने जीवन को सजाने के लिए शिक्षा ग्रहण करें। लोगों से कहा गया कि 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों से श्रम न कराएं। उन्हें विद्यालय तक पहुंचाने के लिए समाज आगे बढ़े जिससे उनका भविष्य सुनहरा हो सके। पीएलवी कृष्णा प्रसाद एवं नारी उत्थान मंच की सचिव किरण वर्मा ने कहा कि बाल श्रम कानूनन अपराध है। आशा देवी, नीलम देवी, प्रदीप कुमार, बुधन सिंह, सहदेव सिंह, बंधन यादव, शंकर ठाकुर, तेजो यादव, मंजू देवी, केदार मंडल, बसंत कुमार, भीम गोप, सुरेश कुमार पांडेय, आनंद कुमार, सीताराम यादव, पोखन प्रसाद, बोधी महतो, खुशी कुमारी, प्रिस कुमार, ट्विकल कुमारी, विवेक कुमार सहित काफी लोग शारीरिक दूरी का पालन करते हुए इस अभियान में शामिल हुए।

Edited By: Jagran